राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा अंकन योजना, पैटर्न और पाठ्यक्रम

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (Rajasthan JET Agriculture) एक राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षा है, यह महाराणा प्रताप कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (MPUAT), उदयपुर द्वारा आयोजित की जाती है| यह कृषि, बागवानी एवं वानिकी, खाद्य प्रौद्योगिकी और डेयरी प्रौद्योगिकी क्षेत्रों जैसे विभिन्न पाठ्यक्रमों में स्नातक और स्नातकोत्तर धाराओं में प्रवेश पाने का द्वार है| परीक्षा के माध्यम से उम्मीदवार राज्य के विभिन्न सरकारी और निजी कृषि संस्थानों में प्रवेश ले सकते हैं|

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) का पाठ्यक्रम भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, जीवविज्ञान और कृषि विषयों पर आधारित होगा, जो कृषि विश्वविद्यालय, कोटा द्वारा जारी किया गया है| राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवार नीचे दिए गए इस लेख में उल्लिखित प्रत्येक विषय के विस्तृत पाठ्यक्रम के साथ पैटर्न और अंकन योजना की जांच कर सकते हैं|

यह भी पढ़ें- RPSC Exam क्या है

परीक्षा पैटर्न

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) पेन-पेपर आधारित ऑनलाइन अवधि दो घंटे की होगी|  जिसमें 5 विभिन्न विषयों के प्रश्न शामिल हैं| प्रत्येक विषय से 40 प्रश्न होते हैं| परीक्षा का पैटर्न निम्नलिखित है, जैसे-

1. परीक्षा एक पाठ्यपुस्तक के रूप में होगी जिसमें कृषि, भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और गणित प्रमुख विषय शामिल होंगे|

2. बागवानी / कृषि / वानिकी में प्रवेश के इच्छुक आवेदक किसी भी तीन विषयों का प्रयास कर सकते हैं|

3. डेयरी प्रौद्योगिकी और खाद्य प्रौद्योगिकी में प्रवेश पाने वाले छात्रों को रसायन विज्ञान, भौतिकी और गणित का प्रयास करना होगा|

4. नीचे राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) प्रश्नों का विषयवार वितरण दिया गया है, जैसे-

विषय  प्रश्नों की संख्या  अधिकतम अंक 
भौतिक विज्ञान (Physics) 40 160
रसायन विज्ञान (Chemistry) 40 160
गणित (Mathematics) 40 160
जीव विज्ञान (Biology) 40 160
कृषि (Agriculture) 40 160
कुल (Total) 120 प्रश्नों का प्रयास किया जाना है तीन विषयों के लिए 480 अंक

यह भी पढ़ें- यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

अंकन योजना

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) के लिए उपयोग की जाने वाली मूल्यांकन पद्धति निम्नानुसार होगी, जैसे-

1. परीक्षा का प्रश्न पत्र वस्तुनिष्ठ प्रकार का होगा|

2. प्रश्न पत्र में कृषि, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित और भौतिकी जैसे विभिन्न विषयों से प्रश्न होंगे|

3. प्रत्येक प्रश्न में 4 अंक होंगे और यह प्रत्येक सही उत्तर के लिए प्रदान किये जायेगे|

4. गलत प्रयास के मामले में, एक अंक काटा जाएगा|

5. यदि उम्मीदवार एक से अधिक विकल्प चिन्हित करते हैं या भरते हैं तो इसे गलत प्रयास माना जाएगा, इसलिए अंतिम परिणाम मूल्यांकन में इसे नकारात्मक अंकन या इसे नहीं माना जाएगा|

6. उम्मीदवारों द्वारा अचिह्नित / अनटैप्ट किए गए प्रश्नों के लिए कोई अंक नहीं दिए जाएंगे या काट दिए जाएंगे|

7. अंतिम मेरिट सूची उम्मीदवारों द्वारा किए गए अंकों (गलत प्रयासों के लिए अंक घटाने के बाद) के आधार पर तैयार की जाएगी|

यह भी पढ़ें- एसएससी एमटीएस (SSC MTS) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

परीक्षा पाठ्यक्रम

चूंकि राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) पांच विषयों में से आयोजित की जाती है, इसलिए आवेदकों के लिए यह आवश्यक है कि वे प्रत्येक विषय में नीचे दिए गए पाठ्यक्रम से अवगत हों| सभी विषयों के लिए विस्तृत पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है, जैसे-

कृषि (Agriculture)

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) में 40 प्रश्न और 160 अंक वाले कृषि विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्नानुसार हैं, जैसे-

भाग अ- (प्रश्न संख्या 15 के साथ 60 अंक)-

मौसम और जलवायु, सिंचाई, शुष्क कृषि, फसल का चक्रिकरण, खरपतवार, मिट्टी, पोषक उर्वरक, जल निकास, कृषि मशीनरी का परिचय, बीज, कृषि विज्ञान, फसल उत्पाद, दालें, अनाज, तिलहन, चारा, नकदी फसलें, फाइबर फसलें और जैविक खेती इत्यादि|

भाग ब- (प्रश्न संख्या 15 के साथ 60 अंक)-

बाग प्रबंधन, महत्वपूर्ण फल फसलों के अध्ययन का विशेष संदर्भ- वानस्पतिक नाम, परिवार, महत्व, जलवायु, मिट्टी, उन्नत किस्में, पौधे का प्रसार, रोपण, खाद और उर्वरक, सिंचाई, निराई और गुड़ाई, उपज और पौधों की सुरक्षा- आम, निम्बू वर्गीय (संतरा और निम्बू), केला, अमरूद, अनार, पपीता, अंगूर, आंवला, बेर, खजूर और बेल|

सब्जी, नर्सरी, सब्जीयों की खेती, सजावटी बागवानी, फूलों की खेती, मसाले, औषधीय पौधे की उपयोगिता, मशरूम, बाद की फसल, फल और सब्जी का संरक्षण और फूल और उनकी कटाई इत्यादि|

भाग ब- (प्रश्न संख्या 10 के साथ 40 अंक)-

जानवरों की अभिजाती, पशुओं का आहार, फ़ीड का निर्धारण, गर्भवती और दूध देने वाली गाय और बैल, फ़ीड संरक्षण, पशु स्वास्थ्य, पशुओं के लिए सामान्य दवा और उनकी उपयोगिता, दूध देने के तरीके, मुर्गी पालन, गाय, भैंस, भेड़, पशु रोग, ऊंट, डेयरी विज्ञान, जैव-अपशिष्ट प्रबंधन और सरकार इत्यादि|

यह भी पढ़ें- यूपीएससी सीएपीएफ (UPSC CAPF) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न

भौतिक विज्ञान (Physics)

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) में 40 प्रश्न और 160 अंक वाले भौतिक विज्ञान विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्नानुसार हैं, जैसे-

भाग अ- (प्रश्न संख्या 10 के साथ 40 अंक)-

भौतिक दुनिया, इकाइयों और माप, गतिकी, एक विमान में गति, गतिशीलता, गति के नियम, समान परिपत्र गति की गतिशीलता, कार्य, ऊर्जा और शक्ति, कणों की प्रणाली और घूर्णी गति इत्यादि|

भाग ब- (प्रश्न संख्या 10 के साथ 40 अंक)-

गुरुत्व, थोक पदार्थ के गुण: ठोस के यांत्रिक गुण, द्रव के यांत्रिक गुण, चिपचिपापन, पदार्थ के ऊष्मीय गुण, उष्मागतिकी, परिपूर्ण गैसों का व्यवहार और गैसों का गतिज सिद्धांत, यांत्रिक तरंगें और किरण प्रकाशिकी: दोलन और तरंगें, वेव गति, रे प्रकाशिकी और प्रकाश का प्रकीर्णन इत्यादि|

भाग स- (प्रश्न संख्या 10 के साथ 40 अंक)-

इलेक्ट्रोस्टैटिक्स, गॉस का नियम और इसके अनुप्रयोग, इलेक्ट्रोस्टैटिक क्षमता और समाई, वर्तमान बिजली, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इत्यादि|

भाग द- (प्रश्न संख्या 10 के साथ 40 अंक)-

करंट के चुंबकीय प्रभाव: गतिमान आवेश और चुंबकत्व, चुंबकत्व और पदार्थ, विद्युत चुम्बकीय प्रेरण और प्रत्यावर्ती धाराएँ: विद्युत चुम्बकीय प्रेरण, प्रत्यावर्ती धारा, विद्युत चुम्बकीय तरंगें, पदार्थ और विकिरण की दोहरी प्रकृति, परमाणु और परमाणु भौतिकी इत्यादि|

यह भी पढ़ें- CRPF में नौकरी कैसे पाए

जीव विज्ञान (Biology)

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) में 40 प्रश्न और 160 अंक वाले जीव विज्ञान विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्नानुसार हैं, जैसे-

भाग अ- वनस्पति विज्ञान (Botany)- प्रश्न संख्या 25 के साथ 100 अंक-

I. वर्गीकरण विज्ञान और पौधे का वर्गीकरण, आकृति विज्ञान और आवृत्तबीजी संयंत्र की शारीरिक रचना, आवृत्तबीज योजना की बाहरी आकृति विज्ञान, पौधे के ऊतक, फूलों के पौधों में यौन प्रजनन, कोशिका: जीवन की इकाई, कोशिका विभाजन, आनुवांशिकी, पादप भौतिकी, पौधों में परिवहन, पौधों का रस, खनिज पोषण, एंजाइम, श्वसन, प्रकाश संश्लेषण और विकास इत्यादि|

II. पारिस्थितिकी और पर्यावरण, पर्यावरण मुद्दे, वन संसाधन और जैव विविधता इत्यादि|

III. आर्थिक वनस्पति विज्ञान और मानव कल्याण, बाजरा, अनाज, अनाज, तिलहन, औषधीय पौधे, मसाले, फल, नकदी फसल और रेशे इत्यादि|

IV. जैव प्रौद्योगिकी और इसके अनुप्रयोग, सिद्धांत और प्रक्रियाएं, आवश्यक उपकरण और संयंत्र ऊतक संस्कृति इत्यादि|

V. फसल के प्रमुख रोग और उनका नियंत्रण: रोगों का वर्गीकरण, खरीफ फसलों के रोग, रबी फसलों के रोग और राजस्थान में फलों की फसलों के रोग इत्यादि|

भाग- ब प्राणि विज्ञान (Zoology)- प्रश्न संख्या 15 के साथ 60 अंक-

I. जानवरों का साम्राज्य, वर्गीकरण विज्ञान तथा जानवरों का वर्गीकरण, शरीर संगठन और पशु ऊतक, बाहरी और आंतरिक आकारिकी और जानवरों की आंतरिक संरचना इत्यादि|

II. अकशेरूकीय, प्रोटोजोआ, हेल्मिंथेस, एनेलिडा, आर्थ्रोपोडा, मोलस्का, हनी मधुमक्खी और कीट नियंत्रण के तरीके इत्यादि|

III. कशेरुक, जानवरों में पोषण, जानवरों में श्वसन, जानवरों में परिसंचरण, प्रजनन प्रणाली और प्रजनन और विकास इत्यादि|

रसायन विज्ञान (Chemistry)

यह भी पढ़ें- CTET Exam की तैयारी कैसे करे

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) में 40 प्रश्न और 160 अंक वाले रसायन विज्ञान विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्नानुसार हैं, जैसे-

परमाणु की संरचना, आवर्त सारणी और संपत्ति में आवधिकता, रासायनिक संबंध और आणविक संरचना, रेडॉक्स प्रतिक्रिया, रासायनिक संतुलन, रासायनिक गतिकी, आयनिक संतुलन, अम्ल और क्षार, बल, श्लैष वस्तुस्थिति, धातु, स-ब्लॉक तत्व, डी-ब्लॉक तत्वों, कार्बन और संकरण का मान, संरचना और प्रतिक्रियाशीलता, परलिसिस, ओर्गेनो-धातु का यौगिक, संतृप्त हाइड्रोकार्बन, कार्यात्मक समूहों पर आधारित कार्बनिक रसायन विज्ञान- अ, कार्यात्मक समूहों पर आधारित कार्बनिक रसायन विज्ञान- ब, अलिफैटिक अमीन्स, सुगंधित यौगिक, सिंथेटिक और प्राकृतिक पॉलिमर और रसायन विज्ञान में कार्य इत्यादि|

गणित (Mathematics)

राजस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JET) में 40 प्रश्न और 160 अंक वाले रसायन गणित विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्नानुसार हैं, जैसे-

बीजगणित की जटिल संख्या, संबंध और कार्य, मैट्रिसेस, निशाना लगाना, निर्देशांक ज्यामिति, अनुवृत्त, तीन आयामी ज्यामिति, संभावना, कार्य, निरंतरता को सीमित करें, भिन्नता, संजात, डेरिवेटिव का अनुप्रयोग, क्रमिक विभेदीकरण, एकीकरण के तरीके, कार्यों का एकीकरण, समाकलन परिभाषित करें और वर्ग निकालना इत्यादि|

यह भी पढ़ें- आईबीपीएस क्लर्क (IBPS Clerk) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

यदि उपरोक्त जानकारी से हमारे प्रिय पाठक संतुष्ट है, तो लेख को अपने Social Media पर LikeShare जरुर करें और अन्य अच्छी जानकारियों के लिए आप हमारे साथ Social Media द्वारा Facebook Page को Like, TwitterGoogle+ को Follow और YouTube Channel को Subscribe कर के जुड़ सकते है|

 

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *