राजस्थान प्री बीएड-एमएड प्रवेश परीक्षा

राजस्थान प्री बीएड-एमएड प्रवेश परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम

तीन वर्षीय एकीकृत राजस्थान प्री बीएड-एमएड (Pre B.Ed-M.Ed) प्रवेश परीक्षा जिसको पीबीएमईटी (PBMET) के रूप में भी जाना जाता है| परीक्षा का आयोजन राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर द्वारा किया जाता है| परीक्षा की अधिसूचना के बाद राजस्थान प्री बीएड-एमएड महाविद्यालयों में प्रवेश हेतु राजस्थान विश्वविद्यालय द्वारा ऑनलाईन आवेदन पत्र आमंत्रित किये जायेंगे|

तीन वर्षीय इन्टीग्रेटेड बीएड-एमएड पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए वे अभ्यर्थी पात्र हैं जो विधि द्वारा स्थापित किसी भी विश्वविद्यालय से विज्ञान/समाज विज्ञान/मानविकी विषयों में स्नातकोत्तर परीक्षा जो राजस्थान राज्य के विश्वविद्यालयों की स्नातकोत्तर परीक्षा के समतुल्य मानी गयी है|

परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए उम्मीदवारों के पास राजस्थान प्री बीएड-एमएड (Pre B.Ed-M.Ed) प्रवेश परीक्षा के पैटर्न और पाठ्यक्रम का पर्याप्त ज्ञान होना आवश्यक है| अंकन योजना, पैटर्न और पाठ्यक्रम का अच्छा और स्पष्ट ज्ञान होने से प्रवेश परीक्षा की तैयारी में मदद मिलती है| राजस्थान प्री बीएड-एमएड (Pre B.Ed-M.Ed) प्रवेश परीक्षा के इच्छुक उम्मीदवारों को अपनी बेहतर तैयारी के लिए निचे दिए गये परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम को जान लेना चाहिए|

यह भी पढ़ें- राजस्थान विश्वविद्यालय प्री बीपीएड एवं एमपीएड प्रवेश परीक्षा

परीक्षा पैटर्न 

पेन-पेपर आधारित राजस्थान प्री बीएड-एमएड (इंटीग्रेटेड त्रिवर्षीय) में प्रवेश हेतु 3 घंटे अवधि का एक प्रश्न पत्र होगा जिसमें चार अनुभाग होंगे| प्रवेश परीक्षा में 200 अंकों का एक बहुविकल्पीय प्रश्नपत्र होगा एवं इसका पैटर्न और पाठ्यक्रम निम्नानुसार विभाजित होगा, जैसे-

भाग  विषय  प्रश्नों की संख्या  अधिकतम अंक 
सामान्य मानसिक योग्यता (General Mental Ability) 50 50
सामान्य चेतना (General Awareness) 50 50
सामान्य हिन्दी एवं अंग्रेजी (General Hindi and English) 25+25= 50 25+25= 50
शैक्षणिक अभिरूचि एवं कम्प्यूटर प्रणाली के मूलभूत तत्व (Teaching Aptitude and Basics of Computer Systems) 25+25= 50 25+25= 50
कुल (Total) 200 200

1. प्रश्न पत्र में प्रश्नों की कुल संख्या 200 होगी, प्रत्येक अनुभाग में 50 प्रश्न होंगे| प्रश्न पत्र में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय न्यूनतम चार उत्तरों सहित वस्तुनिष्ठ प्रकृति के होंगे|

2. भाषाओं के अतिरिक्त प्रश्न पत्र अग्रेजी व हिन्दी दोनों भाषाओं में होगा, किन्तु भाषाओं में प्रश्न पत्र या उत्तर विकल्पों में अन्तर होने की दशा में अंग्रेजी अनुवाद को ही अन्तिम माना जायेगा|

3. प्रश्न पत्र की अवधि तीन घण्टे की होगी|

यह भी पढ़ें- डीएसआरआरएयू प्रवेश प्रक्रिया, पात्रता मानदंड, आवेदन और कोर्सेज

अंकन योजना 

राजस्थान प्री बीएड-एमएड (इंटीग्रेटेड त्रिवर्षीय) की अंकन योजना निम्नलिखित होगी, जैसे-

1. राजस्थान प्री बीएड-एमएड परीक्षा में 200 प्रश्न का एक प्रश्न पत्र होगा|

2. प्रश्न जनरल मेंटल एबिलिटी, जनरल अवेयरनेस, जनरल हिंदी और अंग्रेजी, टीचिंग एप्टीट्यूड और बेसिक ऑफ कंप्यूटर सिस्टम विषयों पर आधारित होंगे|

3. प्रश्न-पत्र में सभी बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे|

4. प्रत्येक सही उत्तर के लिए एक अंक दिया जाएगा और गलत उत्तर के लिए कोई नकारात्मक अंकन नहीं होगा|

परीक्षा पाठ्यक्रम

राजस्थान प्री बीएड-एमएड (इंटीग्रेटेड त्रिवर्षीय) सिलेबस के प्रत्येक विषय के सभी सब-टॉपिक्स को जानकर, आवेदक राजस्थान पीबीएमईटी (PBMET) प्रवेश परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं| इन सब-टॉपिक्स के आधार पर परीक्षा में अधिकतम प्रश्न पूछे जाएंगे| राजस्थान प्री बीएड-एमएड का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्न है, जैसे-

भाग अ- सामान्य मानसिक योग्यता (General Mental Ability) (50 अंक)-

तर्क करना, संबंध देखना, एनालॉजी, आंकिक योग्यता, आकाशीय संबंध, विषमता को पहचानना, आंकिक श्रेणी, अक्षर श्रेणी, अक्षर, अंक और चित्रों द्वारा संबंध देखना, सांकेतिक भाषा, छुपे हुए चित्र, अंक एवं आकृति, गणितीय संक्रियाएं, चित्रों का मिलान, घन संबंधी समस्याएं एवं विभिन्न प्रकार के पैटर्न इत्यादि|

यह भी पढ़ें- राजस्थान एएनएम प्रवेश प्रक्रिया, पात्रता मानदंड और आवेदन

भाग ब- सामान्य चेतना (General Awareness) (50 अंक)-

सामान्य विज्ञान खंड को छोडकर शेष सभी खंडों का स्तर राजस्थान के विशेष संदर्भ एवं भारत तक होगा और प्रत्येक खण्ड दस अंक का होगा|

1. भारतीय इतिहास भारतीय सांस्कृतिक विकास, ऐतिहासिक घटनाएं, भारतीय स्वतंत्रता का इतिहास 1857 से 1947 तक, 1947 के बाद के घटनाक्रम|

2. राजनीति विज्ञान मौलिक कर्तव्य एवं अधिकार, शिक्षा, भाषा, सांस्कृतिक, राष्ट्रीय एकता, नागरिकता, मताधिकार, राष्ट्रीय प्रतीक तथा राष्ट्रीय व्यक्तित्व, लोकसभा, राज्य सभा संबंधी मुख्य संवैधानिक प्रावधान|

3. अर्थशास्त्र सामाजिक एवं आर्थिक विकास, जनसंख्या परिप्रेक्ष्य, सकल राष्ट्रीय उत्पाद और प्रति व्यक्ति आय, शिक्षा का बजट-राष्ट्र एवं राज्य, नियोजन प्रक्रिया, कृषि, ग्रामीण विकास, औद्योगिक एवं व्यापारिक विकास, भारतीय अर्थव्यवस्था, बैंक प्रणाली, रोजगार समस्या, वर्तमान आर्थिक घटनाक्रम|

4. भूगोल प्राकृतिक संसाधन एवं संपदा, पर्यावरण एवं पारिस्थतिकी, भारत के राज्यों की भौगोलिक विशेषताऐं|

5. सामान्य विज्ञान मुख्य आविष्कार एवं आविष्कारक, स्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य विज्ञान, सामान्य वैज्ञानिक घटनाऐं|

यह भी पढ़ें- राजस्थान जीएनएम नर्सिंग प्रवेश प्रक्रिया, पात्रता मानदंड और आवेदन

भाग स- सामान्य हिन्दी एवं अंग्रेजी (General Hindi and English) कुल अंक 50 = (25+25)-

सामान्य हिन्दी (25 अंक)-

अ. व्याकरण

1. वर्णमाला – स्वर, व्यंजन, अयोगवाह, अनुनासिक, अनुस्वार

2. संज्ञापद, सर्वनाम, विशेषण और अव्यय, क्रिया विशेषण का व्यावहारिक प्रयोग

3. समास -रचना एवं प्रकार

4. संधि – नियम एवं प्रकार

5. कथन (वाक्य रचना) के प्रकार – विनम्रता सूचक, विधि-निषेध, काल-बोध, स्थान एवं दिशा बोध

6. कारण-कार्य संबंध, अनुक्रम

7. व्याकरणिक अशुद्धियां|

ब. शब्द बोध

1. शब्द रचना – उपसर्ग, प्रत्यय एवं इनके अर्थ मूलक प्रभाव

2. शब्द प्रकार – तत्सम, तद्भव, देशज, विदेशी, संकर, नवनिर्मित

3. शब्दार्थ – पर्यायवाची, विलोमार्थी, अनेकार्थी, युग्म

4. अशुद्धि संशोधन – उच्चारणगत्, वर्तनीगत, शब्द व शब्दार्थगत

5. हिन्दी के पारिभाषिक एवं तकनीकी शब्द, पारिभाषिक शब्द निर्माण के आधार

6. पारिभाषिक शब्द- प्रशासनिक, मानविकीय, वाणिज्यिक|

स. रचना

(क) प्रतिवेदन (ख) आदेश (ग) ज्ञापन (घ) अधिसूचना (ड.) परिपत्र (च) अनुस्मारक (छ) पृष्ठांकन मुहावरे तथा लोकोक्तियाँ, अर्थ एवं प्रयोग

गद्यांश एवं अवबोध प्रश्न|

द. मानक भाषा- 1.स्वरूप एवं लक्षण, 2.वाक्य रचनागत अशुद्धियों की पहचान|

यह भी पढ़ें- राजस्थान पैरामेडिकल कौंसिल प्रवेश प्रक्रिया, कोर्सेज और आवेदन

सामान्य अंग्रेजी (25 अंक)-

1. सरल और यौगिक वाक्य (Simple and Compound Sentences)

2. प्रकार के खंड (Type of Clauses)

3. वाक्यों का रूपांतरण (Transformation of Sentences)

4. काल (Tenses)

5. आवाज और कथन का परिवर्तन (Change of Voice and Narration)

6. क्रियार्थ द्योतक (Models)

7. क्रिया संरचनाएं (Verb Structures)

8. प्रश्न जोड़ना (Tag Questions)

9. कथन (Propositions)

10. उपसर्ग और प्रत्यय (Prefixes and Suffixes)

11. पर्यायवाची और विलोम (Synonyms and Antonyms)

12. पढ़ने की समझ- कई पसंद के सवालों के बाद सामान्य प्रकृति के एक विषय से निपटने के बारे में 300 शब्दों वाले एक मार्ग की समझ|

यह भी पढ़ें- आरयूएचएस नर्सिंग परीक्षा प्रक्रिया, पात्रता मानदंड, आवेदन और सिलेबस

भाग द- शैक्षणिक अभिरूचि एव कंप्यूटर प्रणाली के मूल भूततत्व (Teaching Aptitude and Basics of Computer Systems) कुल अंक 50= (25 +25)-

शैक्षणिक अभिरूचि-

बच्चों के प्रति अभिवृत्ति, अनुकूलन की योग्यता, व्यवसाय संबंधी सूचनाएं एवं जानकारी, शिक्षकीयवृत्ति में रूचि|

कंप्यूटर प्रणाली के मूल भूततत्व-

1. कम्प्यूटर परिचयः विशेषताएँ, उपयोग एवं प्रकार

2. कम्प्यूटर की पिढ़ीयाँ एवं कम्प्यूटर वास्तुकार

3. हार्डवेयर, इनपुट एवं आउटपुट विधियाँ

4. सॉफ्टवेयर: आवश्यकता, उद्धेश्य एवं प्रकार ऑपरेटिंग एव अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर

5. इन्टरनेट का उपयोग

6. कम्प्यूटर का शिक्षाशास्त्र मे अनुप्रयोग

7. सूचना प्रौद्योगिकी

8. नेटवर्क्स एवं नेटवर्किंग|

तैयारी के टिप्स

नीचे दिए गए टिप्स से उम्मीदवारों को अपनी परीक्षा की तैयारी के दौरान मदद मिलेगी और वे परीक्षा में अर्हक अंक प्राप्त कर सकते हैं| तैयारी के कुछ प्रमुख टिप्स इस प्रकार हैं, जैसे-

1. उम्मीदवारों को एक उचित टाइम टेबल बनाना चाहिए और इसे लागू करना चाहिए|

2. उन्हें राजस्थान पीबीएमईटी के पिछले प्रश्न पत्रों और सभी उपलब्ध नमूना पत्रों से सभी प्रश्नों का अभ्यास करना चाहिए|

3. इसके अलावा उन्हें शिक्षाविदों से अपना ध्यान नहीं भटकाना चाहिए|

4. सभी विषयों के नोट्स तैयार करने होंगे ताकि पहले से पढ़े गए विषय को आसानी से संशोधित किया जा सके|

5. तनाव से बचें और इसे प्रबंधित करने के लिए ध्यान या योग करें|

6. संतुलित और पौष्टिक आहार लें|

यह भी पढ़ें- राजस्थान प्री वेटरनरी परीक्षा प्रक्रिया, पात्रता मानदंड और आवेदन

यदि उपरोक्त जानकारी से हमारे प्रिय पाठक संतुष्ट है, तो लेख को अपने Social Media पर LikeShare जरुर करें और अन्य अच्छी जानकारियों के लिए आप हमारे साथ Social Media द्वारा Facebook Page को Like, TwitterGoogle+ को Follow और YouTube Channel को Subscribe कर के जुड़ सकते है|

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *