सब्जियों की खेती

उन्नत और वैज्ञानिक तकनीक से विभिन्न सब्जियों की खेती की सरल जानकारी के लिए हमारे हमारे लेख पढ़ सकते है। जिससे आप सब्जियों की खेती की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त सकते है और अपनी सब्जी की फसलों अधिकतम उत्पादन कर सकते है|

सब्जियों की फसलों

सब्जियों की फसलों में पौध संरक्षण कैसे करें, जानिए अधिक उत्पादन हेतु

विभिन्न प्रकार की सब्जियों की खेती सिंचाई की सुविधा होने पर वर्षभर की जा सकती है| सब्जियों की फसल लेने के लिए इनकी नर्सरी या सीधे खेत में बुवाई करनी पड़ती है| सब्जियों की फसलों को हानिकारक कीटों, रोगों, सूत्रकृमि तथा चूहे इत्यादि से बचाव करके ही अच्छी उपज सम्भव है| फसल का मुख्य रूप …

सब्जियों की फसलों में पौध संरक्षण कैसे करें, जानिए अधिक उत्पादन हेतु Read More »

बेमौसमी सब्जियों की फसलों

बेमौसमी सब्जियों की फसलों में समेकित रोग नियंत्रण कैसे करें

बेमौसमी सब्जियाँ नगदी फसल होने के कारण विभिन्न क्षेत्रों में व्यावसायिक स्तर पर उगाई जाती हैं| बेमौसमी सब्जियों का उत्पादन बढ़ाने व अधिक आय प्राप्त करने के लिए इन में लगने वाली अनेक बीमारियों का उचित नियंत्रण आवश्यक है| उचित तापमान व नमी के कारण कुछ रोगों के संकमण व फैलाव में तेजी आती है, …

बेमौसमी सब्जियों की फसलों में समेकित रोग नियंत्रण कैसे करें Read More »

टमाटर में सूत्रकृमि (निमेटोड)

टमाटर में सूत्रकृमि (निमेटोड) की समस्या, लक्षण और रोकथाम

टमाटर अत्यन्त ही लोकप्रिय तथा पोषक तत्वों से युक्त फलदार सब्जी है| सम्पूर्ण भारत में इसे व्यापारिक स्तर पर उगाया जाता है| लेकिन कई सूत्रकृमि (निमेटोड) प्रजातियां टमाटर के पौधो को संक्रमित करती है, जैसे- जड़ गांठ सूत्रकृमि और लेजन सूत्रकृमि आदि| यह प्रमुख सूत्रकृमि (निमेटोड) प्रजातियां है, जो टमाटर में आर्थिक नुकसान करती है| …

टमाटर में सूत्रकृमि (निमेटोड) की समस्या, लक्षण और रोकथाम Read More »

सहजन की उन्नत खेती कैसे करें

सहजन की उन्नत खेती कैसे करें, जानिए वैज्ञानिक तकनीक

हमारे देश में सहजन को सोजाना, साईजन, मोरिंगा और अंग्रेजी में ड्रमस्टिक नामों से अधिक जाना जाता है| यह एक लोकप्रिय सब्जी है| ड्रमस्टिक का वैज्ञानिक नाम मोरिंगा ओलीफेरा है| हिंदी में इसे साईजन, मराठी में शेवागा, तमिल में मुरुंगई, मलयालम में मुरिन्गन्गा और तेलुगु में मुनागाक्या कहते है| मोरिंगेसी फैमिली के मोरिंगा जाति के …

सहजन की उन्नत खेती कैसे करें, जानिए वैज्ञानिक तकनीक Read More »

लता वर्गीय सब्जियों

लता वर्गीय सब्जियों की अगेती खेती कैसे करें, जानिए अधिक लाभ हेतु

बेल या लता वर्गीय सब्जियों जैसे लौकी, तोरई, खीरा, टिण्डा, करेला तरबूज, खरबूज, पेठा, आदि की खेती मैदानी भागों में गर्मी के मौसम में मार्च से लेकर जून तक की जाती हैं| अधिक लाभ प्राप्त करने के लिये लता वर्गीय सब्जियों की अगेती खेती की जा सकती है| जिसके लिये पॉली हाउस तकनीकी का प्रयोग …

लता वर्गीय सब्जियों की अगेती खेती कैसे करें, जानिए अधिक लाभ हेतु Read More »

कसूरी मेथी की खेती

कसूरी मेथी की खेती कैसे करें, जानिए किस्में, देखभाल और पैदावार

कसूरी मेथी एक सुगन्धित मेथी हैं| यह एक वर्षीय शाकीय पौधा हैं| जिसकी ऊँचाई लगभग 46 से 56 सेंटीमीटर तक होती है| यह स्वः परागित प्रकृति का पौधा हैं| इसकी बढ़वार धीमी तथा पत्तिया छोटे आकार की गुच्छे में लगी होती है| पत्तियों का रंग हल्का हरा होता है| फूल, चमकदार नांरगी पीले रंग के …

कसूरी मेथी की खेती कैसे करें, जानिए किस्में, देखभाल और पैदावार Read More »