स्तन में फोड़ा हो जाना

स्तन में फोड़ा हो जाना के कारण, लक्षण, निदान, रोकथाम और इलाज

एक प्रकार का स्तन संक्रमण, जो महिलाओं के गैर-स्त्रोतों में हो सकता है, एक सुबरेओलर स्तन में फोड़ा है| स्तन में फोड़ा संक्रमित होंठ होते हैं, जो निचले इलाके के आसपास रंगीन त्वचा के अंतर्गत होता है| एक फोड़ा शरीर में एक सूजन क्षेत्र है, जो मवाद से भर जाता है| पूस मृत सफेद रक्त कोशिकाओं से तरल भरा है|

सूजन और मवाद स्थानीय संक्रमण के कारण होता है एक स्थानीय संक्रमण है| जहां बैक्टीरिया एक निश्चित बिंदु पर आपके शरीर पर आक्रमण करते हैं, और वहां रहते हैं| बैक्टीरिया एक स्थानीय संक्रमण में आपके शरीर के अन्य भागों में नही फैलता है|

स्तन में फोड़ा के लक्षण

जब एक स्तन में फोड़ा पहले विकसित होता है, तो आप इस क्षेत्र में कुछ दर्द महसूस कर सकते हैं| त्वचा के नीचे एक गांठ होने की संभावना और आस-पास की त्वचा की कुछ सूजन| अगर आप इसे धक्का देते हैं, या अगर यह खुले में कट जाता है, तो पूस गांठ से बाहर निकल सकता है| यदि उपचार न किया जाए, संक्रमण एक लालिमा जैसा बनाने के लिए शुरू हो सकता है|

एक नालव्रण वाहिनी से त्वचा तक एक असामान्य छेद है, यदि संक्रमण काफी गंभीर है, तो निप्पल उलटा हो सकता है| यह तब होता है, जब निप्पल की ओर इशारा करते हुए स्तन ऊतक में खींचा जाता है| आपको बुखार और बीमार स्वास्थ्य की सामान्य भावना भी हो सकती है|

यह भी पढ़ें- मूत्रमार्ग शोथ के कारण, लक्षण निदान और उपचार

स्तन में फोड़ा के कारण

स्तन के अंदर अवरुद्ध वाहिनी या ग्रंथि के कारण एक उपरांत स्तन में फोड़ा होता है| इस रुकावट से त्वचा के नीचे संक्रमण हो सकता है| स्तन फोड़े आमतौर पर युवा या मध्यम आयु वर्ग के महिलाओं में होते हैं| जो वर्तमान में स्तनपान नहीं कर रहे हैं| महिलाओं के गैर-स्त्रोतों में उपरोक्त स्तन फोड़े के लिए कुछ जोखिम कारक शामिल हैं, जैसे-

1. निप्पल को भेदने वाला

2. धूम्रपान

3. मधुमेह

स्तन में फोड़ा का निदान

गांठ का आकलन करने के लिए आपका चिकित्सक एक स्तन परिक्षण कर सकता है| किसी भी मवाद को इकट्ठा किया जा सकता है, और एक प्रयोगशाला में भेजा जा सकता है| ताकि वह निर्धारित किया जा सके कि आपके पास किस प्रकार के संक्रमण हैं| आपके चिकित्सक को यह जानना जरूरी हो सकता है, कि कुछ बैक्टीरिया आपके संक्रमण का कारण बन रहे हैं|

क्योंकि कुछ बैक्टीरिया कुछ दवाओं के प्रति प्रतिरोधी हैं| यह आपके चिकित्सक को आपके लिए सबसे अच्छा इलाज कराने की अनुमति देगा| रक्त परीक्षणों को भी संक्रमण का पता लगाने और आपके प्रतिरक्षा स्वास्थ्य की जांच के आदेश दिए जा सकते हैं|

आपके स्तन का एक अल्ट्रासाउंड भी यह निर्धारित करने के लिए किया जा सकता है, कि त्वचा के नीचे कौन से संरचनाएं प्रभावित हो रही हैं, और कितनी गहरी आपके अस्थिरे के नीचे जाती है| कभी-कभी, एक एमआरआई स्कैन भी किया जा सकता है, खासकर एक गंभीर या आवर्तक संक्रमण के लिए|

यह भी पढ़ें- नपुसंकता के लक्षण, कारण, निदान, उपचार, दृष्टिकोण

स्तन फोड़ा के लिए उपचार

उपचार के पहले चरण में एंटीबायोटिक दवाओं की सिफारिस की जा सकती हैं| फोड़े के आकार और असुविधा के स्तर पर निर्भर करते हुए, आपका चिकित्सक भी फोड़ा को खोलना और मवाद को हटा सकता है| इसका मतलब यह होगा कि चिकित्सक के दफ्तर में फोड़ा काट दिया जाएगा| सबसे अधिक संभावना है, कुछ स्थानीय संवेदनाहारी क्षेत्र को सुन्न करने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा|

यदि संक्रमण एक कोर्स या दो एंटीबायोटिक दवाओं से दूर नहीं जाता है, या यदि संक्रमण शुरू होने के बाद बार-बार वापस आ जाता है, तो आपको सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है| सर्जरी के दौरान, पुरानी फोड़ा और किसी भी प्रभावित ग्रंथि को हटा दिया जाएगा| अगर निप्पल उलटा हुआ हो, तो सर्जरी के दौरान निप्पल का पुनर्निर्माण किया जा सकता है|

सर्जरी अपने चिकित्सक के कार्यालय में, सर्जिकल आउटपेशेंट केंद्र में या अस्पताल में, फोड़े के आकार और गंभीरता के आधार पर किया जा सकता है|

स्तन में फोड़ा की जटिलताएं

आपके एंटीबायोटिक दवाओं के साथ इलाज किए जाने के बाद भी रिकॉर्सेस और संक्रमण पुनरावृत्ति हो सकती हैं| पुनरावृत्ति को रोकने के लिए सर्जरी को प्रभावित ग्रंथियों को निकालने की आवश्यकता हो सकती है|

निपल उलटा हो सकता है, आपका निप्पल और आइसला भी फोड़े से विकृत हो सकता है, या केंद्र को धक्का दे सकता है, जिससे कॉस्मेटिक क्षति हो सकती है| भले ही संक्रमण का सफलतापूर्वक एंटीबायोटिक दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता है| इन जटिलताओं के शल्य समाधान भी हैं|

ज्यादातर मामलों में, निपल की समस्याएं या फोड़े स्तन कैंसर का संकेत नहीं देते हैं| हालांकि, स्तनपान कराने वाली महिला में कोई भी संक्रमण स्तन कैंसर का एक दुर्लभ रूप होने की संभावना नहीं है| विशेषज्ञों के अनुसार, कभी-कभी संक्रमण के साथ भड़काऊ स्तन कैंसर भ्रमित हो सकता है| अपने चिकित्सक से संपर्क करें यदि आपको लगता है, कि आपके पास स्तन फोड़ा है|

यह भी पढ़ें- स्तन ढीले होना के कारण, लक्षण, निदान, रोकथाम

स्तन में फोड़ा के लिए दृष्टिकोण

अधिकांश स्तन फोड़े को एंटीबायोटिक उपचार के साथ ठीक किया जाता है, या फोड़ के उसका मवाद निकला जाता है| हालांकि, कभी-कभी आवर्ती या गंभीर संक्रमणों के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है| ज्यादातर समय, शल्य चिकित्सा फोड़े और संक्रमण को रोकने से रोकने में सफल रही है|

फोड़ा को रोकने के लिए युक्तियाँ

अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करना, निप्पल और एरोला को बहुत ही स्वच्छ रखना अगर आपके पास छेद होता है, और न धूम्रपान करने से स्तन फोड़े को रोकने में मदद मिल सकती है| हालांकि, क्योंकि चिकित्सकों को पता नहीं है, कि उनके क्या कारण है, वर्तमान में रोकथाम के लिए अन्य साधन नहीं हैं|

दवाओं से उपचार

आपका चिकित्सक आपको कुछ दवाओं का सुझाव दे सकता है, जो स्तन में फोड़े के लिए इस प्रकार हो सकती है, जैसे-

नाफ्सिलिन (Nafcillin)- इस एंटीबायोटिक दवा का उपयोग, स्तन में फोड़ा  के लिए पेनिसिलिनास उत्पादक स्टेफिलेकोसी की वजह से होने वाले संक्रमण के लिए किया जाता है| जब एक पेनिसिलिल जी-प्रतिरोधी स्टेफेलोोकोकल संक्रमण संदेह होता है|

एम्पीसिलीन-सल्बैटेम सोडियम (अनैसिन)- स्तन फोड़ा के लिए वैकल्पिक एम्पासिलीन के साथ बीटा-लैक्टमैज़ अवरोधक का उपयोग करने वाली ड्रग संयोजन त्वचा, आंतों के वनस्पति, और अनारोबों को कवर करता है| नोसोकोमिअल रोगज़नक़ों के लिए आदर्श नहीं है|

डिक्लोक्सेसिलिन- स्तनदाह के लिए, जीवाणुनाशक एंटीबायोटिक कि सेल दीवार संश्लेषण को रोकता है| पेनिसिलिनासेज उत्पादन करने वाले स्टेफिलेकोसी की वजह से संक्रमण का इलाज करने के लिए उपयोग किया जाता है, एक स्टाफिलोकोकल संक्रमण होने पर संदेह शुरू करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है|

इसी प्रकार अन्य दवाएं ऑक्सैकिलिन (बैक्टोकिल), डॉक्सिस्कीलाइन (एक्टिकलेट, एडोक्सा, एट्रिडोक्स) जिनका स्तन फोड़े के इलाज लिए चिकित्सक सुझाव दे सकता है, आपको निर्देशित किया जाता है, की किसी भी दवा का उपयोग चिकित्सक की सलाह से ही करें, अन्यथा हानिकारक हो सकती है|

यह भी पढ़ें- स्तनों में दूध की कम आपूर्ति होना कारण, लक्षण और उपचार

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

3 thoughts on “स्तन में फोड़ा हो जाना के कारण, लक्षण, निदान, रोकथाम और इलाज”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *