यूपीएससी आईईएस (UPSC IES)

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा, संघ लोक सेवा आयोग या यूपीएससी द्वारा हर साल आयोजित की जाती है| इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज में विभिन्न पदों पर इंजीनियरों की भर्ती के लिए यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा आयोजित की जाती है| आईईएस को ईएसई (इंजीनियरिंग सर्विसेज परीक्षा) के रूप में भी जाना जाता है| हर साल करीब 2 लाख से अधिक उम्मीदवार आईईएस के लिए पंजीकरण करते हैं। यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) इंजीनियरिंग सेवाओं की परीक्षा में 3 चरण हैं – प्रीलीम्स, मेन, और पर्सनल साक्षात्कार|

यहां यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम आदि पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला जाएगा, जिससे इस परीक्षा के लिए यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने में मदद कर सके|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा के हाइलाइट (Highlights of UPSC IES Exam)

परीक्षा का नाम [Name of Exam] भारतीय इंजीनियरिंग सेवाएं (इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा के रूप में भी जाना जाता है) [Indian Engineering Services, also known as Engineering Services Exam]
परीक्षा का संचालन [Conducting Body] यूपीएससी (संघ लोक सेवा परीक्षा) [UPSC (Union Public Service Exam)]
परीक्षण स्तर [Exam Level] राष्ट्रीय [National]
आधिकारिक वेबसाइट [Official Website] www.upsc.gov.in
आवेदन मोड [Application Mode] ऑनलाइन [Online]

यूपीएससी आईईएस परीक्षा के लिए योग्यता मानदंड (Eligibility Criteria for UPSC IES Exam)

संघ लोक सेवा आयोग प्रत्येक वर्ष यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) पात्रता मानदंड निर्धारित करता है| इंजीनियरिंग उम्मीदवार या उनके अंतिम वर्ष में आईईएस के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं|

योग्यता पैरामीटर निम्नलिखित कारकों पर आधारित हैं-

राष्ट्रीयता

इंजीनियरिंग उम्मीदवारों को ध्यान रखना चाहिए कि यूपीएससी निम्नलिखित नागरिकों को आईईएस परीक्षा के लिए आवेदन करने के योग्य मानता है|

एक उम्मीदवार या तो होना चाहिए:

1. भारत का नागरिक, या

2. भूटान का नागरिक, या

3. नेपाल का नागरिक, या

4. 1 जनवरी, 1962 से पहले भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से एक तिब्बती शरणार्थी भारत चले आए थे|

5. भारतीय मूल के एक व्यक्ति जो पाकिस्तान, बर्मा, श्रीलंका या केन्या के पूर्वी अफ्रीकी देशों, युगांडा, तंजानिया के संयुक्त गणराज्य, जाम्बिया, मलावी, ज़ैरे और इथियोपिया या वियतनाम से भारत में स्थायी रूप से स्थापित होने के इरादे से प्रवास कर चुके हैं|

यह भी पढ़ें- एसएससी एमटीएस (SSC MTS) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

नोट: राष्ट्रीयता का प्रमाण पत्र तभी स्वीकार किया जाएगा जब उम्मीदवार को भारत सरकार से प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ हो| आईईएस के लिए एक वैध प्रमाण पत्र की अनुपस्थिति उम्मीदवार को अस्वीकार कर देगी|

आयु सीमा

1. यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) में आयु सीमा मानदंड बताता है कि यूपीएससी आईईएस परीक्षा के लिए कम आयु सीमा 21 वर्ष है और ऊपरी आयु सीमा 30 वर्ष है|

2. जिन लोगों ने किसी भी सरकारी संगठन में सेवा की है, उनके लिए ऊपरी आयु सीमा में 5 साल की आयु छूट होगी|

3. यूपीएससी के अनुसार, आईईएस / ईएसई के लिए आवेदन करने वाले किसी भी सरकारी अधिकारी को उम्र छूट मिल जाएगी, भले ही वह पहले से ही एक पद पर काम कर रहा हो जिसे उच्च अधिकारी कैडर माना जाता है|

4. किसी भी सरकारी संगठन के साथ अनुबंधित आधार पर 3 साल या उससे अधिक की अवधि के लिए काम करने वालों के लिए आयु छूट है|

5. एससी / एसटी / ओबीसी उम्मीदवारों को ऊपरी आयु सीमा पर 5 साल की आयु छूट प्राप्त है|

6. पूर्व सैनिक उम्मीदवारों को भी 5 साल की आयु छूट मिलेगी|

7. शारीरिक रूप से अक्षम उम्मीदवारों को भी 3 साल की आयु छूट मिलेगी|

नोट: अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / ओबीसी / पूर्व सैनिक सैनिकों के उम्मीदवारों को लागू होने पर ऊपरी आयु सीमा पर संचयी आरक्षण लाभ प्राप्त होंगे| किसी भी आरक्षण का दावा करने के लिए स्वीकृत सरकारी अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षरित प्रमाण पत्र प्राप्त किया जाना चाहिए| वैध प्रमाणपत्र स्वीकार कर लिया जाएगा और सभी जानकारी के लिए पृष्ठभूमि सत्यापन किया जाएगा|

शैक्षणिक योग्यता

यूपीएससी के लिए परिभाषित शैक्षणिक योग्यता आईईएस मानदंड के लिए आवेदक को निम्नलिखित मानदंडों में से एक को मंजूरी देनी होगी-

1. एक मान्यता प्राप्त संस्थान से आवश्यक न्यूनतम प्रतिशत के साथ इंजीनियरिंग में डिग्री होनी चाहिए|

2. इंजीनियरों (भारत) के संस्थानों से सेक्शन ए और बी को मंजूरी देनी चाहिए|

3. विदेशी विश्वविद्यालय / कॉलेज / संस्थान से इंजीनियरिंग में डिग्री / डिप्लोमा प्राप्त किया और प्रमाण पत्र भारत में प्राप्त डिग्री के बराबर मूल्यवान होना चाहिए|

4. इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार अभियंता संस्थान (भारत) की स्नातक सदस्यता परीक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए|

5. भारत की एयरोनॉटिकल सोसाइटी के एसोसिएट सदस्यता परीक्षा भाग II और III / अनुभाग ए और बी पारित कि जानी चाहिए|

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) शिक्षा मानदंड में निम्नलिखित अपवाद हैं-

1. अगर उम्मीदवार ने यूपीएससी आईईएस में सफलता प्राप्त कर ली है और उसे अंतिम परीक्षा का नतीजा नहीं मिला है तो उसे केवल तभी भर्ती कराया जाएगा जब वह यूपीएससी चयन प्रक्रिया के दौरान अंतिम मार्क शीट प्रस्तुत करता है|

2. अभ्यर्थी जिसने यूपीएससी आईईएस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर ली है, लेकिन उसे विदेशी विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त हुई है जिसे भारतीय शिक्षा मानकों के बराबर स्वीकार नहीं किया जा सकता है| चयन, इस मामले में, यूपीएससी चयन समिति पसंद पर निर्भर है|

यह भी पढ़ें- यूपीएससी सीएपीएफ (UPSC CAPF) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न

3. यदि किसी उम्मीदवार के पास इंजीनियरिंग डिग्री नहीं है लेकिन परीक्षा में सफलता प्राप्त कर ली है तो आईईएस परीक्षा भी पोस्ट के लिए चुनी जाएगी यदि डिग्री इंजीनियरिंग डिग्री के मानकों के बराबर मानी जाती है|

चिकित्सा परीक्षा मानदंड

1. यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) आरक्षण मानदंडों के बावजूद सभी उम्मीदवारों को चिकित्सा परीक्षा देनी होगी|

2. प्रक्रिया के लिए आवेदक को शारीरिक फिटनेस परीक्षण की एक श्रृंखला से गुजरना पड़ता है|

3. सभी उम्मीदवारों द्वारा परीक्षा के लिए उनकी पिछली उपस्थिति के बावजूद मानकों को मंजूरी देनी होगी|

4. यूपीएससी द्वारा परिभाषित चिकित्सा परीक्षा विभिन्न रेलवे अस्पतालों में आयोजित की जाएगी|

5. उम्मीदवार जो अनुपयुक्त पाए जाते हैं उन्हें आगे की प्रक्रिया से अयोग्य घोषित किया जाएगा|

चिकित्सा परीक्षा से संबंधित अन्य निर्देश-

1. मेडिकल परीक्षा कार्यक्रम, स्थान और उम्मीदवार की अंतिम स्थिति भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट (www.indianrailways.gov.in) पर अपलोड की जाएगी|

2. उम्मीदवारों को भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट से मेडिकल बोर्ड रिपोर्ट के लिए फॉर्म के तीन सेट लेना होगा|

3. किसी को वैध सरकार जारी फोटो आईडी कार्ड और उनके साथ तीन पासपोर्ट आकार की तस्वीर लेनी होगी|

4. पीडब्ल्यूडी श्रेणी से संबंधित अभ्यर्थियों को अपने विकलांगता प्रमाण पत्र को मूल रूप से अतिरिक्त प्रारूप के साथ निर्धारित प्रारूप के अनुसार ले जाना चाहिए|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा के लिए आवेदन (Application for UPSC IES Exam)

1. आईईएस आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन है|

2. उम्मीदवारों को आईईएस के लिए आवेदन करने के लिए यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना आवश्यक है|

3. आईईएस परीक्षा के लिए पंजीकरण दो भागों में किया जाता है – पंजीकरण भाग I और पंजीकरण भाग II

पंजीकरण I

1. पंजीकरण के पहले भाग में, व्यक्तिगत विवरण दर्ज करने और उन्हें सबमिट करने के लिए यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं|

2. यह उन्हें पंजीकरण प्रक्रिया के अगले चरण में लाएगा यानी आवेदन शुल्क भुगतान|

आवेदन शुल्क का भुगतान

1. आवेदन शुल्क ऑनलाइन के साथ ही ऑफ़लाइन मोड के माध्यम से किया जा सकता है|

2. अभ्यर्थी को एक नए पृष्ठ पर रीडायरेक्ट किया जाएगा जहां उसे भुगतान का तरीका चुनना होगा|

यह भी पढ़ें- CRPF में नौकरी कैसे पाए ! How To Find A Job In CRPF

3. यदि उम्मीदवार ऑनलाइन भुगतान करना चुनता है, तो क्रेडिट कार्ड / डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग जैसी सुविधाएं उपलब्ध है|

4. ऑफ़लाइन भुगतान विधि के मामले में, भारतीय स्टेट बैंक की निकटतम शाखा में नकद भुगतान के लिए एक पे-इन-पर्ची प्रदान की जाएगी|

पंजीकरण II

1. एक बार जब आपने अपना आवेदन शुल्क सफलतापूर्वक चुकाया है तो इंजीनियरिंग कोर शाखा के साथ अपने परीक्षा केंद्र विकल्पों को भरें|

2. उम्मीदवारों को अगले चरण में जाने से पहले अन्य विवरणों को भी संवाद करना होगा|

आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें

1. सभी आवश्यक जानकारी जमा करें और दिए गए आयामों में पासपोर्ट आकार की तस्वीर की स्कैन की गई प्रतिलिपि और स्पष्ट रूप से दिखाई देने वाले हस्ताक्षर अपलोड करने के लिए आगे बढ़ें|

2. आईईएस पंजीकरण पूरा करने के लिए घोषणा की जांच करें|

परीक्षा केंद्र

आईईएस परीक्षा के भाग II पंजीकरण में, उम्मीदवारों को उनकी प्राथमिकता के अनुसार प्रारंभिक परीक्षा के लिए आईईएस परीक्षा केंद्र चुनने के लिए कहा जाता है| यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि मुख्य परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्र अलग होता है|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र (Admit Card for UPSC IES Exam)

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) प्रवेश पत्र आवश्यक विवरण दर्ज करके यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट से प्राप्त किया जा सकता है|

1. यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

2. आईईएस प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

3. पंजीकरण आईडी या रोल नंबर या नाम के माध्यम से यानी डाउनलोड करने की विधि चुनें

4. जन्म तिथि के बाद पंजीकरण आईडी या रोल नंबर दर्ज करें

5. कैप्चा दर्ज करें और ‘सबमिट’ पर क्लिक करें,

6. प्रदर्शित आईईएस प्रवेश पत्र मुद्रित करें|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा पैटर्न (UPSC IES Exam Pattern)

1. यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा पैटर्न केंद्रीय लोक सेवा आयोग द्वारा परिभाषित किया गया है|

2. आईईएस परीक्षा तीन चरणों- प्रीलीम्स, मेन और अंत में व्यक्तिगत साक्षात्कार शामिल हैं|

यह भी पढ़ें- CTET Exam की तैयारी कैसे करे ! How to Prepare for CTET Exams

3. प्रारंभिक परीक्षा एक उद्देश्य पत्र है जबकि मुख्य परीक्षा एक पारंपरिक पेपर है|

4. उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा के लिए उपस्थित होने के लिए प्राथमिकताएं पास करनी होंगी|

5. जो योग्य हैं वे व्यक्तित्व परीक्षण में आगे बढ़ेंगे जो साक्षात्कार दौर के रूप में भी जाना जाता है|

6. लिखित परीक्षा के दोनों वर्ग प्रासंगिक इंजीनियरिंग विषय (सिविल / मैकेनिकल / इलेक्ट्रिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार इंजीनियरिंग) के पूरे पाठ्यक्रम को कवर करते हैं|

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न के बारे में विवरण-

चिह्नित योजना- गलत उत्तर के लिए अंकों का 1/3 दंड के रूप में काटा जाएगा|

मध्यम- केवल अंग्रेजी भाषा में|

प्रश्नों के प्रकार- एकाधिक विकल्प प्रश्न (प्रत्येक प्रश्न में 4 विकल्प हैं)|

अनुभाग पेपर 1 पेपर 2 कुल
समय अवधि 2 घंटे 3 घंटे 5 घंटे
अंक 200 300 500

नोट: यूपीएससी द्वारा निर्धारित आईईएस कट ऑफ के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवार आईईएस मेन्स परीक्षा में आगे बढ़ेंगे| आईईएस मेन्स परीक्षा में 2 पेपर- पेपर 1 और पेपर 2 हैं, प्रत्येक पेपर 300 अंक का हैं|

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) मेन परीक्षा पैटर्न के बारे में विवरण-

1. मुख्य परीक्षा पत्र का माध्यम केवल अंग्रेजी होगा|

2. यदि हस्तलेखन आसानी से सुगम नहीं है तो उम्मीदवार द्वारा बनाए गए कुल अंक से 5% अंक काट दिया जाएगा|

विषय अवधि अधिकतम अंक
पेपर 1 (सीई / ईई / एमई / ईसीई) 3 घंटे 300
पेपर 2 (सीई / ईई / एमई / ईसीई) 3 घंटे 300
कुल 6 घंटे 600

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) व्यक्तिगत साक्षात्कार दौर

1. आईईएस मेन राउंड के बाद व्यक्तिगत साक्षात्कार सत्र के लिए बुलाए जाने वाले अभ्यर्थियों को बुलाया जाएगा|

2. इसे आधिकारिक तौर पर ‘व्यक्तित्व परीक्षण’ दौर के रूप में जाना जाता है|

3. अभ्यर्थियों को विस्तृत आवेदन पत्र (डीएएफ) ऑनलाइन भरना होगा|

4. इस चरण में, चयनित उम्मीदवारों का उनके नेतृत्व कौशल, व्यक्तित्व और बुद्धि पर निर्णय लिया जाएगा|

5. व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्कार परीक्षण) को अधिकतम 200 अंक आवंटित किए जाते हैं|

पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों के लिए प्रावधान

1. यूपीएससी ने पीडब्ल्यूडी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए प्रति घंटे 20 मिनट का एक क्षतिपूर्ति समय प्रदान करने का प्रावधान किया है|

2. साथ ही, उम्मीदवारों की सहायता से (40% की हानि) के न्यूनतम उम्मीदवारों को इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (ईएसई) लिखने की अनुमति होगी|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा पाठ्यक्रम (UPSC IES Exam Syllabus)

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) या इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम वर्षों से समान रहा है| योजनाओं को चिह्नित करने और आईईएस परीक्षा के पैटर्न को जानने के लिए उम्मीदवारों को आईईएस प्रैक्टिस पेपर का कड़ाई से अभ्यास करना चाहिए|

आईईएस पाठ्यक्रम के बारे में नीचे महत्वपूर्ण तथ्य हैं-

भारतीय इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है

यह भी पढ़ें- SSC Exam की तैयारी कैसे करे ! How to prepare for SSC exam

पहले दो चरण लिखित परीक्षाएं हैं

चरण 1 में 2 पेपर शामिल हैं, अर्थात् सामान्य अध्ययन और इंजीनियरिंग योग्यता (पेपर 1) और इंजीनियरिंग अनुशासन (सिविल / मैकेनिकल / इलेक्ट्रिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार इंजीनियरिंग)

1. पेपर 1 में प्रश्न वर्तमान मुद्दों, बेसिक इंजीनियरिंग योग्यता, इंजीनियरिंग गणित और संख्यात्मक विश्लेषण आदि पर आधारित हैं|

2. पेपर 2 में प्रश्न चुने गए इंजीनियरिंग अनुशासन पर आधारित हैं|

चरण 2 में 2 पेपर भी होते हैं, दोनों पेपर इंजीनियरिंग अनुशासन विशिष्ट होते हैं

सामान्य ज्ञान और इंजीनियरिंग योग्यता के लिए आईईएस पाठ्यक्रम

सामान्य योग्यता में प्रश्न आर्थिक, सामाजिक और औद्योगिक विकास से संबंधित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व के वर्तमान मुद्दों से प्रश्नों को कवर करेंगे

इंजीनियरिंग योग्यता अनुभाग से प्रश्न शामिल होंगे

1. तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता|

2. इंजीनियरिंग गणित|

3. संख्यात्मक विश्लेषण|

4. ड्राइंग, डिजाइन, और सुरक्षा के महत्व के सामान्य सिद्धांत|

5. परियोजना प्रबंधन की मूल बातें|

6. सामग्री विज्ञान और इंजीनियरिंग की मूल बातें|

7. ऊर्जा और पर्यावरण की मूल बातें: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण, और गिरावट, जलवायु परिवर्तन, पर्यावरण प्रभाव मूल्यांकन|

8. सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) आधारित उपकरण और इंजीनियरिंग में उनके अनुप्रयोग जैसे नेटवर्किंग, ई-गवर्नेंस, और प्रौद्योगिकी आधारित शिक्षा|

इस पेपर में प्रश्न स्नातक स्तर के हैं

ऊपर वर्णित प्रत्येक विषय के लिए अंक पेपर में कुल अंक के 5% से 15% तक होंगे

मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए आईईएस पाठ्यक्रम (एमई)

1. मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिए पेपर कोड एमई है|

2. यह आईईएस में सबसे बड़ी और सबसे पुरानी शाखा है|

3. आईईएस में दोनों चरणों में इस अनुशासन से प्रश्न होंगे|

यह भी पढ़ें- UPSC Exam की तैयारी कैसे करें ! How to Prepare for the UPSC Exam

4. चरणों के अनुसार प्रश्नों का स्तर अलग-अलग होगा|

5. शाखा यांत्रिक प्रणालियों के डिजाइन, विश्लेषण, विनिर्माण और रखरखाव के लिए इंजीनियरिंग, भौतिकी और भौतिक विज्ञान के सिद्धांतों को लागू करती है|

नीचे दिए गए टैबलेट महत्वपूर्ण विषयों वाले विषय हैं जो मेरे लिए आईईएस पाठ्यक्रम बनाएंगे|

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) स्टेज 2 पेपर 1 के लिए एमई पाठ्यक्रम

विनिर्माण- ऑर्थोगोनल कटिंग, टूल लाइफ समीकरण समस्याएं, कास्टिंग प्रकार और डिज़ाइन, प्रतिरोध वेल्डिंग, वेल्डिंग में समस्याएं|

हीट ट्रांसफर- संवहन में संख्या, जीआर संख्या, पुन: आदि, चालन पर समस्याएं, गंभीर मोटाई, विकिरण में आकार कारक, एनटीयू जैसे हीट एक्सचेंजर्स में समस्या|

थर्मल साइंस- प्रथम और दूसरी कानून समस्याएं, स्टीम टरबाइन, टीडी के कानून और संपत्ति, डीजल, ओटो, ड्यूएल साइकिल, डिटोनेशन और नॉकिंग की समस्याएं, टर्बो मशीनरी |

द्रव मैकेनिक्स- वेग क्षमता, पाइप के माध्यम से प्रवाह, सीमा परत सिद्धांत, उछाल, सतह तनाव, केशिका, बर्नौली समीकरण के अनुप्रयोग, केन्द्रापसारक पंप, टरबाइन और पंप की विशिष्ट गति|

मशीनों और कंपन की सिद्धांत- ग्रह गियर ट्रेन, गियर्स एलओसी, पीओसी, शाफ्ट समस्याएं, गवर्नर और फ्लाई व्हील, लिंकेज, जोड़े और इसके अनुप्रयोग, सिंगल और डबल स्लाइडर क्रैंक के इनवर्जन|

ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत- सौर विकिरण, सौर थर्मल ऊर्जा संग्रह – फ्लैट प्लेट और कलेक्टरों को उनके, सामग्रियों और प्रदर्शन पर ध्यान केंद्रित करना। सौर थर्मल एनर्जी स्टोरेज, एप्लीकेशन – हीटिंग, कूलिंग और पावर जनरेशन; सौर, फोटोवोल्टिक रूपांतरण; पवन ऊर्जा, जैव द्रव्यमान और ज्वारीय ऊर्जा-तरीकों और अनुप्रयोगों का उपयोग, ईंधन कोशिकाओं के कार्य सिद्धांत|

स्टेज 2 पेपर 2 के लिए एमई पाठ्यक्रम

इंजीनियरिंग यांत्रिकी- तंत्र और मशीनें, विनिर्माण, औद्योगिक और रखरखाव इंजीनियरिंग|

इंजीनियरिंग सामग्री- मशीन तत्वों का डिजाइन, मेक्ट्रोनिक्स और रोबोटिक्स|

यूपीएससी आईईएस परीक्षा परिणाम (UPSC ISE Exam Result)

केवल वे उम्मीदवार जो पूर्वोत्तर अर्हता प्राप्त करते हैं, वे आईईएस मेन्स परीक्षा में आगे बढ़ने में सक्षम होंगे|

इसी तरह, उन उम्मीदवारों के लिए एक सूची तैयार की जाएगी जिन्हें व्यक्तिगत साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा| इसके अलावा, चयनित उम्मीदवारों की एक अंतिम सूची का खुलासा किया जाएगा|

प्रत्येक स्तर के परिणाम अलग से घोषित किए जाएंगे|

आईईएस परिणाम प्राप्त करने के लिए कदम नीचे सूचीबद्ध हैं-

1. यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और वर्तमान वर्ष परिणाम लिंक खोजें|

2. उम्मीदवारों के नतीजे जानने के लिए एक पीडीएफ फ़ाइल अपलोड करनी होगी|

3. इसे डाउनलोड करें और खोलें, अपने परिणाम की खोज के लिए अपना रोल नंबर दर्ज करें|

यूपीएससी आईईएस कट ऑफ (UPSC IES cut off)

उम्मीदवार यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आईईएस ऑनलाइन कट ऑफ की जांच कर सकते हैं|

अगले चरण यानी आईईएस मेन के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, सेट क्वालीफाइंग अंकों के अनुसार बराबर या अधिक अंक स्कोर करना महत्वपूर्ण है|

कट ऑफ सभी परीक्षाओं के लिए अलग है, निम्नलिखित कारक कटऑफ निर्धारित करते हैं-

1. आईईएस के लिए छात्रों की कुल संख्या

यह भी पढ़ें- एसएससी सीजीएल (SSC CGL) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम

2. उपलब्ध सीटों की संख्या

3. पिछले साल आईईएस कट ऑफ

4. पास का औसत प्रतिशत

5. इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा में कठिनाई का स्तर

6. वर्ष के लिए योजना चिह्नित करना|

यूपीएससी आईईएस चयन प्रक्रिया (UPSC IES selection Process)

यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा के लिए यूपीएससी द्वारा अपनाई गई दो चरणबद्ध आईईएस भर्ती प्रक्रिया है-

लिखित परीक्षा

व्यक्तिगत साक्षात्कार

लिखित परीक्षा में दो परीक्षाएं शामिल हैं- प्रारंभिक और मुख्य, उम्मीदवारों को आयोग द्वारा निर्धारित आईईएस कट ऑफ के लिए अर्हता प्राप्त करने की आवश्यकता है| आईईएस मेन्स परीक्षा में आगे बढ़ने के लिए क्लीयरिंग आईईएस प्रीलीम्स आवश्यक है| मुख्य परीक्षा व्यक्तिगत साक्षात्कार सत्र के लिए योग्यता मानदंड है| शॉर्टलिस्टेड उम्मीदवारों को अंतिम चरण यानी व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलाया जाएगा| अंतिम परिणाम और योग्यता सूची उम्मीदवार के नाम पर नियुक्ति पत्र का आधार बनाती है|

आईईएस / ईएसई परीक्षा के माध्यम से विभाग आवंटन (Departments Allocation via IES/ ESE Exam)

असैनिक अभियंत्रण [Civil Engineering] इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग [Electrical Engineering]
1. नियुक्ति निर्माण में एईई समूह-ए सेवाएं

2. सीमा सड़क इंजीनियरिंग में एईई सेवाएं जीआर-ए

3. केंद्रीय इंजीनियरिंग सेवा

4. केंद्रीय इंजीनियरिंग सेवा (सड़क) समूह-ए

5. केंद्रीय जल इंजीनियरिंग सेवा

6. भारतीय रेलवे सेवा इंजीनियर्स

7. भारतीय रक्षा सेवा इंजीनियर्स

8. भारतीय रेलवे स्टोर सेवा

9. इंडियन ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज सर्विसेज

1. भारतीय नौसेना में सहायक नौसेना स्टोर अधिकारी ग्रेड -1

2. ईएमई, रक्षा मंत्रालय के कोर में सहायक कार्यकारी अभियंता

3. केंद्रीय मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग सेवा (इलेक्ट्रिकल पोस्ट)

4. सेंट्रल पावर इंजीनियरिंग सर्विस (इलेक्ट्रिकल पोस्ट)

5. विद्युत इंजीनियरों की भारतीय रेल सेवा

6. भारतीय रेलवे स्टोर सेवा

7. भारतीय रक्षा सेवा इंजीनियर्स (विद्युत पद)

8. इंडियन ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज सर्विसेज

9. भारतीय आपूर्ति सेवा समूह ए (विद्युत पद)

10. भारतीय नौसेना आर्मामेंट सेवा

मैकेनिकल इंजीनियरिंग [Mechanical Engineering]

इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार [Electronics & Telecommunication] 

1. सहायक कार्यकारी अभियंता समूह भारत का एक भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण

2. भारतीय नौसेना में सहायक नौसेना स्टोर अधिकारी ग्रेड -1

3. ईएमई, रक्षा मंत्रालय के कोर में सहायक कार्यकारी अभियंता

4. केंद्रीय मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग सेवा (मैकेनिकल पोस्ट)

5. केंद्रीय जल इंजीनियरिंग सेवा समूह-ए (मैकेनिकल पोस्ट)

6. सेंट्रल पावर इंजीनियरिंग सर्विस (मैकेनिकल पोस्ट)

7. केंद्रीय इंजीनियरिंग सेवा (सड़क) समूह-ए

8. मैकेनिकल इंजीनियर्स की भारतीय रेल सेवा

9. भारतीय रेलवे स्टोर सेवा

10. भारतीय रक्षा सेवा इंजीनियर्स

11. इंडियन ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज सर्विसेज

12. भारतीय निरीक्षण सेवा समूह ए

12 भारतीय आपूर्ति सेवा समूह ए (मैकेनिकल पोस्ट)

14. भारतीय नौसेना आर्मामेंट सेवा

1. भारतीय नौसेना में सहायक नौसेना स्टोर अधिकारी ग्रेड -1

2. ईएमई, रक्षा मंत्रालय के कोर में सहायक कार्यकारी अभियंता

3. सेंट्रल पावर इंजीनियरिंग सर्विस (ई एंड टी पोस्ट)

4. डब्ल्यूपीसी / एमओ में इंजीनियर जीसीएस समूह ए (एम / ओ संचार और आईटी)

5. सिग्नल इंजीनियर्स की भारतीय रेल सेवा

6. भारतीय रेलवे स्टोर सेवा

7. भारतीय दूरसंचार सेवा समूह-ए

8. भारतीय निरीक्षण सेवा समूह ए (ई एंड टी पद)

9. भारतीय आपूर्ति सेवा समूह ए (ई एंड टी पद)

10. इंडियन ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज सर्विसेज

11. भारतीय नौसेना आर्मामेंट सेवा

इस प्रकार यूपीएससी आईईएस (UPSC IES) परीक्षा योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम आदि की प्रक्रिया आप समझ गये होंगे, इस प्रकार यदि आप योग्य है, तो अपना करियर इस क्षेत्र में  बना सकते है|

यदि हमारे प्रिय पाठक उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, यदि लेख से संबंधित कोई नई जानकारी है, तो आपने Comment में जरुर लिखें, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

शुभकामनाएं

महत्वपूर्ण लिंक- संघ लोक सेवा आयोग

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *