मुंह के छाले (Oral Thrush)

मुंह के छाले (Oral Thrush) कारण, लक्षण, रोकथाम और उपचार

मुंह के छाले (Thrush) तब होते है, जब एक खमीर संक्रमण आपके मुंह के अंदर और जीभ पर विकसित होता है| इस स्थिति को ओरोफेरिन्जियल कैंडीडिआसिस भी कहा जाता है| शिशुओं और बच्चों में मुंह के छाले (Thrush) सबसे अधिक होते है, यह आंतरिक गाल और जीभ पर सफेद थक्कों का कारण बनता है|

उपचार प्राप्त होने के बाद यह छाले सामान्यत दूर हो जाते है| मुंह के छाले (Thrush) आमतौर पर एक हल्के संक्रमण का कारण होता है, जो शायद जटिलताओं का कारण बनता है| हालाँकि हालत कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों के लिए यह समस्या हो सकती है|

मुंह में छाले के लक्षण

प्रारम्भिक चरणों में मुह के छाले किसी भी लक्षण का कारण नही हो सकते है| हालाँकि जैसे जैसे समय बीतता है| और कवक बढ़ता रहता है, इसके निम्न लक्षण हो सकते है, जैसे-

1. जीभ, आंतरिक गाल, मसूड़ों या टोंसिल पर मलाईदार सफेद थक्के होना|

2. मामूली खून बहता है, जब मामूली स्क्रैप होते है|

3. बांध के स्थल पर दर्द होना|

4. मुंह के कोणों पर शुष्क फटी हुई त्वचा|

5. भोजन या अन्य पदार्थ निगलने में कठिनाई होना|

यह भी पढ़ें- बच्चों की अपच के लक्षण, कारण, उपचार, निदान और रोकथाम

मुंह में छाले के कारण

शिशुओं में छालों के कारण इस प्रकार हो सकते है|

स्तनपान के दौरान मुंह में छाले के साथ शिशुओं को अपनी माँ को संक्रमण पारित किया जा सकता है| माताओं और उनके शिशुओं को एक चक्र में पकड़ा जा सकता है| जिसमे वे एक दुसरे को संक्रमित और पुन संयोजित करते है| यदि आपका बच्चा स्तनपान कर रहा है| और आपके स्तन कवक से संक्रमित हो जाते है, तो आप अनुभव कर सकते है, जैसे-

1. तीव्र खुजली, संवेदनशीलता या निप्पल में दर्द होना|

2. निप्पल के आसपास के क्षेत्र में चपटे या चमकदार त्वचा|

3. स्तनपान के दौरान गंभीर दर्द होना|

4. तेज, स्तन में छेदने का दर्द|

जोखिम (Risk Factor)

मुंह के छालों के लिए जोखिम कौन कौन से हो सकते है|

शिशुओं और बच्चों को मुह के छालों से अपने विकास का उच्चतम जोखिम है| हालाँकि संक्रमण कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगो को भी प्रभावित कर सकता है| आपके पास कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली हो सकती है| इसके जोखिम इस प्रकार है, जैसे-

1. एचआइवी, एड्स, मधुमेह या एनीमिया हो|

2. सूखे मुंह से भी पता चलता है की कोई बीमारी है|

3. एंटीबायोटिक या अन्य दवाओं के कारण भी हो सकता है|

4. केमोथेरेपी, विकिरण या कैंसर के इलाज के लिए दवाओं का उपयोग करने से|

5. धुम्रपान या प्रदुषण से|

6. या हाल ही में कोई अंग प्रत्यारोपण हुआ हो|

यह भी पढ़ें- बच्चों में कब्ज के लक्षण, कारण, निदान और उपचार

मुंह के छालों का निदान 

आपका चिकित्सक शायद सफेद थक्के की विशेषता के लिए आपके मुह और जीभ की जाँच कर के मुंह के छालों का निदान करने के बारें में विचार कर सकता है|

कुछ मामलों में निदान की पुष्टि के लिए आपका चिकित्सक बायोप्सी ले सकता है, बायोप्सी में मुह से एक छोटा नमूना लेकर लेकर प्रयोगशाला भेजना होता है, वहां इसका परिक्षण होता है|

यदि आपको आपके भोजन से संक्रमण हो गया है, तो चिकित्सक एक सटीक निदान सुनिश्चित करने के लिए अधिक परिक्षण कर सकता है, इसमें गले संस्कृति और एंडोस्कोपी शामिल हो सकते है|

इलाज (Treatment)

मुंह के छालों (Thrush) के लिए उपचार आपकी आयु और समग्र स्वास्थ्य पर निर्भर करता है| उपचार का उदेश्य कवक के विकास और प्रसार को रोकने का होता है| इसके उपचार में शामिल हो सकते है, जैसे-

1. फ्लुकोनाजोल, जो एक मुंह में छाले की रोधी दवा है|

2. क्लोटीयमैजोल, लोजेंज, जो एक एंटीफिंगल दवा है, जब तक वह घुल नही जाती आप अपने मुह में रख सकते है|

3. इत्राकोनाजोले, जो एक छाले रोधी दवा है, यह उन लोगो के लिए प्रयोग की जाती है, जो प्रारम्भिक उपचार के लिए प्रतिरोधी होते है| जिनके एचआईवी या एड्स है|

यह भी पढ़ें- यूवुला की सूजन के लक्षण, कारण, जोखिम, निदान और उपचार

 जटिलताएँ (Complication)

मुंह के छाले (Thrush) शायद ही कभी स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगो में जटिलताओं का कारण बनते हों| जिन लोगो की प्रतिरक्षा प्रणाली कुछ बिमारियों या अन्य कारणों से कमजोर होती है| वे जटिलताओं का अनुभव करने की सबसे अधिक संभावना होती है|

यदि आपके पास कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली है| तो कवक आपके खून की मात्रा में प्रवेश कर सकता है| और आपके पुरे शरीर में फ़ैल सकता है| इससे अंतत मस्तिष्क ह्रदय और यकृत सहित विभिन्न शरीर संरचनाओं में समस्याएं हो सकती है|

रोकथाम (Prevention)

मुंह के छालों को कैसे रोका जा सकता है, इसमें शामिल है, जैसे-

1. अपने दातों को साफ करके अपना स्वच्छ मुह रखें, आपको भी चाहिए की यह आपके लिए जरूरी है|

2. कोर्टीकोस्टोरोइट इन्हेलर का उपयोग करने के बाद मुंह को अच्छी तरह से साफ कर लेना चाहिए|

3. अपने आहार में दही ले जब भी आप एंटीबायोटिक दवा लेते हों|

4. महिलाएं तुरंत योनी खमीर संक्रमण का इलाज करें, खासकर यदि आप गर्भवती हों|

नोट- कोई भी दवा चिकित्सक की देखरेख में ही ले अन्यथा वह हानिकारक हो सकती है|

यह भी पढ़ें- गले का दर्द के लक्षण, कारण, निदान और उपचार

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *