बीएचयू एमबीबीएस बीडीएस (BHU MBBS BDS)

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) प्रवेश परीक्षा योग्यता और मानदंड

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) या बनारस हिंदू विश्वविद्यालय एमबीबीएस और बीडीएस जैसे विभिन्न चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश की पेशकश के लिए अभ्यार्थियों को आमंत्रित करता है| बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) में प्रवेश प्रदान करने के लिए, यह योग्य उम्मीदवारों का चयन करने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है| इस परीक्षा को राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा के रूप में जाना जाता है| मेडिकल साइंस इंस्टीट्यूट, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय उम्मीदवारों को एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रम में प्रवेश की पेशकश के लिए एनईईटी द्वारा आयोजित किया जाता है|

प्रवेश के लिए चयन राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा में उम्मीदवार के प्रदर्शन पर आधारित होती है| अभ्यर्थियों को एनईईटी में भाग लेना है, और प्रवेश पाने के लिए मेरिट सूची को पास करना है| लगभग सभी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय / संस्थान / सरकारी / केंद्रीय / निजी / डीम्ड संस्थान विभिन्न चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश करने के लिए एनईईटी पर विचार करते हैं|

यह भी पढ़ें- एआईपीवीटी परीक्षा (AIPVT Exam) पाठ्यक्रम, योग्यता और मानदंड

आधिकारिक सूचना- यह उन सभी छात्रों के लिए नोटिस है, जो बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) पाठ्यक्रम में प्रवेश की तलाश में हैं, उन्हें सीबीएसई एनईईटी यूजी परीक्षा में शामिल होना होता है| प्राधिकरण ने इस राष्ट्रीय स्तर के परीक्षण के माध्यम से प्रवेश की पेशकश करने का फैसला किया है| लगभग सभी विश्वविद्यालयों ने एमबीबीएस और अन्य चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश देने के लिए इस प्रवेश परीक्षा का चयन किया है| एनईईटी यूजी परामर्श कार्यक्रम के अनुसार परामर्श कार्यक्रम भी होता है|

यहां हम बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) प्रवेश परीक्षा योग्यता और मानदंड व अन्य प्रक्रिया पर प्रकाश डालेंगे जिससे अभ्यर्थी जागरूक हो, तो आइए जानते है, बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) प्रवेश परीक्षा की पूरी प्रक्रिया|

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस के लिए पात्रता मानदंड (Eligibility criteria for BHU MBBS/BDS)

एमबीबीएस और बीडीएस के लिए

अखिल भारतीय कोटा यूजी मेडिकल / डेंटल प्रवेश परीक्षा (एआईयूजीएमईई) योग्य उम्मीदवार बीएचयू-आईएमएस में प्रवेश के लिए पात्र हैं| हालांकि, उम्मीदवारों को फरवरी से पहले बीएचयू-आईएमएस में प्रवेश के लिए आवेदन करने की आवश्यकता है|

निवास और आयु पात्रता

1. अभ्यर्थी एक भारतीय नागरिक होना चाहिए|

2. अभ्यर्थियों की 17 वर्ष की आयु होनी चाहिए और 25 वर्ष की आयु से अधिक नहीं होना चाहिए|

अकादमिक पात्रता

आवेदकों को नीचे उल्लिखित तरीके से योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए-

1. उम्मीदवारों ने भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान और अंग्रेजी विषयों के साथ इंटरमीडिएट साइंस / प्री-मेडिकल कोर्स / 12 साल या 10+2 या समकक्ष योग्यता परीक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए|

यह भी पढ़ें- यूपीसीएमईटी परीक्षा (UPCMET Exam) पाठ्यक्रम, योग्यता और मानदंड

2. सामान्य श्रेणी से संबंधित अभ्यर्थियों को भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान (या वनस्पति विज्ञान और प्राणीशास्त्र) और व्यक्तिगत रूप से अंग्रेजी विषयों में पारित होना चाहिए और भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान (या वनस्पति विज्ञान और प्राणीशास्त्र) में कम से कम 50% अंकों को प्राप्त किया होना चाहिए|

3. पिछड़े वर्ग श्रेणी से संबंधित अभ्यर्थियों को भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान (या वनस्पति विज्ञान और प्राणीशास्त्र) और व्यक्तिगत रूप से अंग्रेजी विषयों में पारित होना चाहिए और भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान (या वनस्पति विज्ञान और प्राणीशास्त्र) में न्यूनतम 40% अंक प्राप्त किया होना चाहिए|

4. उम्मीदवार जो मार्च / अप्रैल में योग्यता परीक्षा में उपस्थित होंगे या उपस्थित हुए हैं और जिनके परिणाम अभी तक घोषित नहीं किए गए हैं, प्रवेश के लिए भी आवेदन कर सकते हैं, यदि अन्य योग्यता मानदंड से संतुष्ट हैं|

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस सीटों का वितरण (BHU MBBS/BDS Distribution of Seats)

एनईईटी (एआईपीएमटी) एमबीबीएस प्रवेश के परिणाम के आधार पर, प्रत्येक श्रेणी के लिए अलग मेरिट सूचियां तैयार की जाती है|

वर्ग सीट आवंटन (एमबीबीएस) सीट आवंटन (बीडीएस)
अखिल भारतीय कोटा 13
सामान्य 36 25
अन्य पिछड़ा वर्ग 19 13
अनुसूचित जाति 11 08
अनुसूचित जनजाति 05 04

भारत सरकार के मानदंडों के अनुसार, शारीरिक रूप से विकलांग उम्मीदवारों के लिए 3% आरक्षण होगा; क्षैतिज रूप से दिया जाता है, यानी एमबीबीएस में 2 सीटें और बीडीएस में 1 सीट|

विदेशी छात्र

प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए विदेशी नागरिकों की आवश्यकता नहीं है| वे सरकार के संबंधित मंत्रालयों भारत, नई दिल्ली, के माध्यम से प्रवेश ले सकते हैं| इस उद्देश्य के लिए निर्धारित नियमों के अनुसार|

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस के लिए पंजीकरण और आवेदन (Registration and Application for BHU MBBS/BDS)

ऑनलाइन आवेदन

आवेदन का पंजीकरण

उम्मीदवार फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं, सीधे निर्धारित शुल्क के साथ खुद को पंजीकृत कर सकते हैं|

यह भी पढ़ें- सीएमसी एमबीबीएस (CMC MBBS) वेल्लोर प्रवेश परीक्षा पैटर्न, योग्यता और मानदंड

पता-

निदेशक,

मेडिकल साइंसेज संस्थान,

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय,

वाराणसी, यूपी|

आवेदन पत्र भरना

1. प्रॉस्पेक्टस और निर्देश सावधानी से पढ़ें|

2. उम्मीदवार को ऑनलाइन आवेदन भरने के साथ-साथ आवेदन जमा करने के संबंध में सभी आवश्यकताओं के साथ स्वयं को परिचित होना चाहिए|

3. ऑनलाइन आवेदनों के लिए, केवल हस्ताक्षरित, स्कैन किए गए और अपलोड किए गए ऑनलाइन सबमिशन स्वीकार किए जाते हैं| हालांकि, यह सलाह दी जाती है, कि उम्मीदवार उनके साथ प्रिंटआउट का रिकॉर्ड रखें|

4. एक सफेद शीट पर नीले / काले कलम के साथ आवेदन पत्र पर हस्ताक्षर किए जाने चाहिए|

5. दिशानिर्देशों के अनुसार भुगतान करें|

6. यह देखने के लिए याद रखें, कि आपका एप्लिकेशन सफलतापूर्वक सबमिट किया गया है या नहीं|

7. अपूर्ण आवेदन, झूठे विवरण के साथ आवेदन अस्वीकार कर दिया जाएगा|

प्रवेश पत्र (Admit Card)

1. प्रवेश पत्र में उम्मीदवार द्वारा अपलोड किए गए आवेदन, फोटो और हस्ताक्षर छवि में उम्मीदवार द्वारा टाइप किए गए नाम और जन्म तिथि होगी; परीक्षा शहर आवंटित और रोल नंबर|

2. प्रवेश पत्र में श्रेणी / स्थिति में परिवर्तन को अकेले सुधार के लिए माना जाएगा।

यह भी पढ़ें- सीएमसी लुधियाना एमबीबीएस (MBBS) प्रवेश परीक्षा पैटर्न, योग्यता और मानदंड

3. किसी भी उम्मीदवार को प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी जब तक कि वह प्रवेश पत्र नहीं रखता है|

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस के लिए पाठ्यक्रम और पैटर्न (Courses and Patterns for BHU MBBS/BDS)

पाठ्यक्रम

बीएचयू-आईएमएस के लिए पाठ्यक्रम एनईईटी (एआईपीएमटी) दिशानिर्देशों के अनुसार है|

परीक्षा पैटर्न

प्रति विषय बीएचयू चिकित्सा प्रवेश परीक्षा टूटने नीचे दिया गया है| अपने परीक्षा स्थल पर समय से पहुंचे| परीक्षा के लिए प्रवेश समय के बाद सख्ती से प्रतिबंधित होता है|

विषय आवंटित अंक
भौतिक विज्ञान 50
रसायन विज्ञान 50
वनस्पति विज्ञान 50
प्राणि विज्ञान 50
कुल 200

1. पेपर तीन (03) घंटे या 180 मिनट की अवधि के लिए होगा|

2. परीक्षा अंग्रेजी में आयोजित की जाती है|

3. प्रत्येक उम्मीदवार को कंप्यूटर टर्मिनल आवंटित किया जाएगा|

4. इसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान से 200 से अधिक विकल्प प्रश्न होंगे|

5. प्रत्येक सही उत्तर को एक अंक से सम्मानित किया जाएगा|

यह भी पढ़ें- डीयू एमबीबीएस (DU MBBS) प्रवेश परीक्षा पैटर्न, योग्यता, आवेदन और मानदंड

6. प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 अंक घटाया जाएगा|

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) परीक्षा के लिए सुझाव 

1. सबमिट बटन सबमिट करने से पहले प्रत्येक प्रश्न को ध्यान से पढ़ें|

2. अगर आप उत्तर के बारे में सुनिश्चित हैं तो केवल उत्तर दबाएं याद रखें, एक बार उत्तर सबमिट करने के बाद, आप उस प्रश्न पर वापस नहीं आ सकते हैं|

3. अभ्यर्थियों को सलाह दी जाती है कि वे एनईईटी (एआईपीएमटी) के लिए कंप्यूटर आधारित टेस्ट (ऑनलाइन परीक्षा) के लिए मॉक टेस्ट से गुज़रें|

बीएचयू प्रवेश परीक्षा समाधान (BHU Entrance Examination Solution)

पेपर समाधान

बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) प्रवेश परीक्षा आयोजन में, एक विस्तृत उत्तर कुंजी प्रदान की जाएगी| अंतिम परिणाम की प्रतीक्षा करते समय यह आपको अपनी योग्यता की गणना करने का मौका देगा| कृपया ध्यान दें कि ऑनलाइन परीक्षण के लिए सामिल होने पर आपके द्वारा सबमिट किए गए उत्तरों के 100% निश्चित नहीं हो सकते हैं| बीएचयू पुनर्मूल्यांकन के लिए कोई सिफारिश नहीं करेगा|

परिणाम (Result)

आमतौर पर जून में परिणाम अपेक्षित हैं| एक बार आपके अखिल भारतीय प्रवेश परिणाम की घोषणा हो जाने के बाद आपको 15 दिनों के भीतर बीएचयू के साथ पंजीकरण करने की आवश्यकता है|

काउंसिलिंग (Counselling)

एक बार परिणाम घोषित किए जाने के बाद, बीडीएस और एमबीबीएस ईएनटीआरएसीएनई परीक्षा के लिए आने वाले उम्मीदवारों को परामर्श सत्रों के लिए चुना जाएगा| जुलाई के पहले सप्ताह में परामर्श शुरू होने की उम्मीद होती है| हालांकि, मेरिट सूची पर उम्मीदवार के नाम को शामिल करने से उसे परामर्श के लिए बुलाया नहीं जा सकता है| परामर्श सत्र आयोजित किया जाता है|

पता-

मेडिकल साइंसेज संस्थान,

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय,

वाराणसी, यूपी – 221005

यह भी पढ़ें- जेआईपीएमईआर एमबीबीएस (JIPMER MBBS) परीक्षा पैटर्न, योग्यता और मानदंड

1. उम्मीदवार से परामर्श के लिए रिपोर्ट करने के लिए पूछने का मतलब यह नहीं है, कि उसे पाठ्यक्रम में भर्ती किया जाएगा|

2. वास्तविक प्रवेश उपलब्ध सीटों की संख्या पर निर्भर करेगा, जब उसकी बारी उसकी योग्यता के क्रम में होती है|

3. परामर्श के लिए उम्मीदवार और उसके अभिभावक की शारीरिक उपस्थिति आवश्यक है|

4. अभ्यर्थियों को अपनी लागत पर परामर्श के लिए रिपोर्ट करनी होगी|

5. आवंटन / प्रवेश या अस्थायी चयन से संबंधित किसी अन्य मामले या प्रवेश रद्द करने के मामले में किसी भी विवाद के मामले में, प्रवेश समिति का निर्णय अंतिम और उम्मीदवार पर बाध्यकारी होगा|

बीएचयू एमबीबीएस और बीडीएस प्रवेश परीक्षा तैयारी के लिए टिप्स

परीक्षा कुशल बनें- अपनी बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) परीक्षा से संबंधित सामग्री पर एक विशेषज्ञ बनें, चाहे वह पाठ्यक्रम, पैटर्न और प्रश्नों की संभावना हो| पिछले साल के प्रश्न पत्रों के माध्यम से जाना सुनिश्चित करें| अपने स्कूल शिक्षकों और एमबीबीएस कोचिंग के अलावा ऑनलाइन चिकित्सा परीक्षा तैयारी के साथ-साथ आपको महत्वपूर्ण प्रश्नों या विषयों पर मार्गदर्शन करने और उन्हें अच्छी तरह से तैयार करने के लिए आपने आप को सुनिश्चित करना होगा|

अपने आप को जानें- अपनी ताकत और कमजोरी को जानना सफल होने के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है| अपनी तैयारी की स्थिति जानने के लिए नकली परीक्षाओं के लिए उपस्थित हों| अपने बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) पाठ्यक्रम में अपनी शक्तियों को बढ़ाएं और अपनी कमजोरी पर सुधार करें, याद रखें कि यदि आप और अन्य उम्मीदवार आरोही क्रम से बराबर अंक प्राप्त करते हैं, तो जीवविज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी के उच्च अंक ध्यान में रखे जाएंगे|

एक समय सारणी सेट करें- एक दैनिक और साप्ताहिक समय सारणी आपको स्पष्ट कट लक्ष्य देता है, प्रत्येक विषय को समय आवंटित करना सुनिश्चित करें| ईएनटीआरएसीएनई परीक्षा पाठ्यक्रम के लिए छोटे शब्द और दीर्घकालिक लक्ष्यों को बनाएँ| प्रत्येक विषय को समझने और याद रखने, के लिए लगातार अभ्यास और संशोधित करने के लिए इसे विभाजित किया जा सकता है|

यह भी पढ़ें- एम्स परीक्षा (AIIMS Exam) पैटर्न, पाठ्यक्रम, योग्यता और मानदंड

अपने नोट्स रखें- प्रत्येक विषय के लिए नोट या दृश्य मानचित्र तैयार करें| सुनिश्चित करें कि आपके सभी नोट एक साफ और व्यवस्थित रखे हुए है| आपको एमबीबीएस और बीडीएस अध्ययन सामग्री को संशोधित करने के इच्छुक विषयों पर नोट्स की तलाश में समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा|

एक परीक्षा एक दिन निर्धारित करें- अपने दैनिक दिनचर्या में एक नमूना या पिछले वर्ष की परीक्षा निर्धारित करें| उत्तर सबमिट करने के पैटर्न का पालन करें, और सुनिश्चित करें, कि आप आवंटित समय में अपनी परीक्षा पूरी करें| नेट पर कई प्रश्नावली उपलब्ध हैं, और आप उनमें से कुछ यहां कर सकते हैं| उत्तरों की जांच करें, और अपने संदेह और गलतियों को संशोधित करें|

विशेषज्ञों (शिक्षकों और सलाहकारों) और सहायता के लिए मित्रों की ओर मुड़ें- यह शर्मीला बनने या घबराहट करने का समय नहीं है| जब संदेह में हों तब कॉल करें, मेल करें या बस उन लोगों के कार्यालयों में चले जाएं, जिन्हें आप अपने अध्ययन के क्षेत्र में विशेषज्ञ मानते हैं| उन्हें मदद के लिए पूछें, भले ही प्रश्न आपको मूर्खतापूर्ण लगे| संभावना है, कि विशेषज्ञ आपको एमबीबीएस ईएनटीआरएसीएनई परीक्षाओं में मदद करेंगे|

आराम से जानें और सकारात्मक बनें- बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) परीक्षा के लिए तैयारी या उपस्थित होने के दौरान आप घबराहट महसूस करने के लिए बाध्य हैं| आपको सकारात्मक दृष्टिकोण रखना सीखना है| जब भी आप अभिभूत, घबराहट या झटकेदार महसूस करते हैं तो गहरी सांस लें|

नमूना पत्र

1. बीएचयू एमबीबीएस/बीडीएस (BHU MBBS/BDS) प्रवेश परीक्षा के पिछले साल के पेपर भी आप प्रयोग में ला सकते है, जो बहुत सी साइटों पर बिल्कुल मुफ्त उपलब्ध है|

2. कुल 200 प्रश्नों को हल करने के लिए आपको केवल 180 मिनट मिलेंगे| इसलिए, यह जरूरी है कि आप गति और परिशुद्धता दोनों को बनाने के लिए बार-बार उन सभी का अभ्यास करें| अपने पेपर सुलझाने की क्षमताओं के साथ सभी विषयों का संशोधन निश्चित रूप से चयन की संभावनाओं को प्रभावित करेगा|

यह भी पढ़ें- मणिपाल एमबीबीएस (Manipal MBBS) परीक्षा पैटर्न, योग्यता, आवेदन और मानदंड

3. आवंटित समय में पिछले सभी वर्षों के पेपर का प्रयास करें| हल करने वाले कागजात गति और सटीकता का निर्माण करेंगे|

4. परीक्षा समाप्त करने के बाद अपने उत्तरों की जांच करें| अपने अंकन में लापरवाही मत करो| अपनी श्रेणी के अनुसार आपको चुनने के लिए आपको बहुत अधिक प्रतिशत स्कोर करना होगा|

5. पेपर का प्रयास करते समय उन विषयों को आज़माएं और माप करें, जो सबसे महत्वपूर्ण हैं|

6. उन वर्षों के प्रश्नों और स्तरों को समझें जिन्हें वर्षों में दोहराया जाता है, और उनमें कुशल बनने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है| आप जिस कठिनाई का सामना करेंगे उसका स्तर जानने के लिए सफलता उतनी ही नजदीक होगी आपके|

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, यदि लेख से संबंधित कोई नई जानकारी आपके पास है, तो आपने Comment में जरुर लिखें, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

शुभकामनाएं

महत्वपूर्ण लिंक- Banaras Hindu University, Varanasi  और  Banaras Hindu University- Entrance Exam

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *