बदहजमी के कारण, लक्षण और इलाज

बदहजमी के कारण, लक्षण और इलाज ! Gastric Treatment

बदहजमी समस्या (Gastric Problems) वह समस्या है जब हम भोजन या अन्य पदार्थोँ को खाने के रूप में उपयोग करते है| उस आहर का अच्छे से ना पचपाना या हजम ना होना उसको बदहजमी समस्या (Gastric Problems) रोग कहते है| पाचनक्रिया के दोरान पेट में गैस का बनना एक सामान्य प्रकिया है| परन्तु कई बार इस प्रक्रिया की तीव्रता बढ़ जाती है और पेट में तीव्र पीड़ा होती है| बाद में यह बदहजमी समस्या (Gastric Problems) रोग गंभीर बीमारी का रूप ले लेती है| यह समस्या शरीर में हाइड्रोक्लोरिक का ना बनना है जो आहर को पचाता है| यदि आप बदहजमी का आयुर्वेदिक व घरेलू इलाज चाहते है, तो यहां पढ़ें- आयुर्वेदिक व घरेलू इलाज

यह भी पढ़ें- अपच के लक्षण, कारण, आहार, निदान और उपचार

बदहजमी समस्या के कारण 

1. भोजन की अधिकता और समय पर नही खाना बदहजमी का कारण है|

2. भोजन को अच्छे से चबाकर न खाना और व्यायाम, शाररिक परिश्रम ना करना|

3. तला हुआ व मसालेदार भोजन, चाय, काफी, धुम्रपान, अल्कोहल का अधिक सेवन भी बदहजमी का कारण है|

4. समय पर ना सोना, कम नींद लेना, तनाव, क्रोध और भय भी बदहजमी के कारण है|

बदहजमी समस्या के लक्षण

1. लगातार लम्बे समय से पेट में गैस का बनते रहना|

2. खाना, खट्टी डकारें या खटा पानी मुहं से आना|

3. तनाब में रहना और स्वभाव में चिडचिडापन आना|

4. सांस फूलना व मतली (जी मितलाना) होना|

यह भी पढ़ें- कब्ज के लक्षण, कारण, उपचार और प्राकृतिक उपचार

5. समय पर भूख ना लगना, जलन होना, पेट दर्द व पेट का फूलना और सिरदर्द होना|

बदहजमी समस्या का इलाज

आइए जानते है कुछ दवाओं के नाम जो बदहजमी रोग के लिए प्रयोग में लाई जाती है| वसे तो बाजार में बहुत सी दवा उपलब्ध है परन्तु हम कुछ महत्वपूर्ण दवा की ही जानकारी सांझा करेगें| यह विवरण केवल आप की जानकारी के लिए है| किसी भी दवा का उपयोग करने से पहले चिकित्सक की सलाह जरुर ले नही तो इनके दुष्प्रभाव हो सकते है कोई भी दवा रोगी की मानसिक और शाररिक स्थिति को ध्यान में रख कर दी जाती  है| तो चिकित्सक की सलाह से दवा ले और दुष्प्रभाव से बचें|

सिमेथिकोने (Simethicone)- यह दवा हिचकी, पेट में दर्दनाक दबाब, पेट में सुजन और अन्य रोगों के लिए उपयोग में लाई जाती है| इस दवा को चिकित्सक की देख रेख में ही ले क्योंकी इसके परिणाम रोगी की स्थिति पर निर्भर करते है|

गैस अक्स (Gas-X)- इस दवा को कब्ज, खटी डकार, दर्द भूख में कमी, तनाव और अन्य रोगों के लिए प्रयोग में लाया जाता है| इस दवा के परिणाम और दुष्परिणाम की लिए चिकत्सक की सलाह से ले|

डॉमसटाल (Domstal)- इस दवा को इस दवा को उलटी, मतली और मधुमेह के लिए निर्देशित किया गया है|

म्यलानता (Mylanta)- यह दवा फुले हुए पेट, गैस और अन्य रोगों के लिए निर्देशित की गईं|

यह भी पढ़ें- पेट फूलना के कारण, जटिलताएं, निदान और उपचार

रियल रिलीफ गैस (Real Relief Gas)- यह दवा सुजन, ऐठन, मतली और अन्य रोगों के लिए निर्देशित की गई है|

नोट: कोई भी दवा अपने चिकित्सक की सलाह से ही ले नही तो आप के लिए हानिकारक हो सकती है|

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

1 thought on “बदहजमी के कारण, लक्षण और इलाज ! Gastric Treatment”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *