फोड़ा (Abscess)

फोड़ा (Abscess) बनने के कारण, लक्षण, निदान और उपचार

फोड़ा (Abscess) एक निविदा, नरम, मवाद से भरा सूजन है, जो अक्सर गुलाबी से गहरे लाल रंग की त्वचा के क्षेत्र से घिरा होता है| एक फोड़ा (Abscess) दर्दनाक और स्पर्श करने के लिए गर्म हो सकता है, और आपके शरीर पर कहीं भी दिखाई दे सकता है| सबसे आम साइटें आपके बगल (एंजिले), आपके गुदा और योनि (बार्थोलिन के फोड़े) के आसपास के इलाकों में हैं, आपके रीढ़ की हड्डी (पिलोनिअनल फोड़ा) का आधार, दाँत (दांत की गड़बड़ी) के आस-पास, और आपके गले में एक बाल कूप के आसपास सूजन भी एक फोड़ा (Abscess) के गठन का कारण बन सकती है, जिसे फोड़ा कहा जाता है (फ़ुरुनकल)|

अन्य संक्रमणों के विपरीत, अकेले एंटीबायोटिक दवाओं आमतौर पर एक फोड़ा (Abscess) का इलाज नहीं करेगा, आम तौर पर, एक फोड़ा खोला जाना चाहिए, और मसलन इसे सुधारने के लिए निकास किया जाता है| कभी-कभी जल निकासी तब होती है, जब मस्तिष्क की जेब त्वचा के माध्यम से टूट जाती है, लेकिन अक्सर एक चिकित्सक को चीज़ और जल निकासी नामक एक प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आवश्यक होता है|

यह भी पढ़ें- मासिक धर्म बन्द हो जाना कारण, लक्षण उपचार और विकल्प

फोड़ा के कारण

पेट में तेल के उत्पादन (विक्षिप्त) ग्रंथियों या पसीना ग्रंथियों, बालों के रोम की सूजन, या त्वचा के नाबालिग ब्रेक और पंचकर्मों के अवरोधन के कारण फोर्ब्सस उत्पन्न होते हैं| रोगाणु (बैक्टीरिया) त्वचा के नीचे या इन ग्रंथियों में आते हैं, जिससे आपके शरीर की रक्षा के रूप में सूजन की प्रतिक्रिया उत्पन्न होती है, जिससे बैक्टीरिया को मारने की कोशिश होती है|

जैसे-जैसे वे विकसित होते हैं, फोड़े (Abscess) के बीच में द्रवीकरण होता है, और इसमें मृत कोशिकाओं, बैक्टीरिया और अन्य मलबे होते हैं| यह क्षेत्र बढ़ना शुरू होता है, त्वचा के नीचे तनाव पैदा होता है, और आस-पास के ऊतकों की अधिक सूजन होती है| दबाव और सूजन के कारण दर्द और त्वचा की आसपास की लाली होती है|

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोग अधिक निश्चित रूप से कुछ निश्चित रूप से फोड़े पाते हैं| इसका कारण यह है, कि शरीर में संक्रमण कम करने की क्षमता कम हो गई है| निम्न में से किसी भी व्यक्ति को अधिक गंभीर फोड़े होने का खतरा होता है, जैसे-

1. दीर्घकालिक स्टिरॉइड थेरेपी|

2. कीमोथेरपी|

3. मधुमेह का होना|

4. कैंसर का होना|

5. एड्स का होना|

6. सिकल सेल रोग|

7. लेकिमिया का होना|

8. परिधीय संवहनी विकार|

9. क्रोहन रोग का होना|

10. अल्सरेटिव कोलाइटिस|

11. गंभीर जलन का होना|

12. गंभीर आघात लगना|

यह भी पढ़ें- काली खांसी के कारण, लक्षण, उपचार और रोकथाम

फोड़ा के लक्षण 

1. एक फोड़ा के रूप में विकसित होता है, यह एक दर्दनाक, नरम, सूजन जो लाल होता है, स्पर्श करने के लिए गर्म होता है, और कोमल होता है|

2. कुछ फोड़े की प्रगति के रूप में, वे “बिंदु” कर सकते हैं, और सिर पर आ सकते हैं| ताकि आप अंदर मवाद देख सकें, और फिर स्वस्थ निर्वहन (टूटना)|

3. सावधानी के बिना सबसे अधिक गंदगी खराब रहना जारी रहेगा| संक्रमण त्वचा के नीचे ऊतकों तक फैल सकता है, और खून में भी|

4. यदि संक्रमण गहरा ऊतक में फैलता है, तो आप बुखार का विकास कर सकते हैं, और बीमार महसूस करना शुरू कर सकते हैं|

चिकित्सा से सलाह कब ले

निम्नलिखित में से किसी भी एक फोड़ा के साथ होने पर चिकित्सा सलाह लें, जैसे-

1. आपके पास 1 सेमी या आधा इंच के मुकाबले एक बड़ा फोड़ा है|

2. प्रभावित क्षेत्र बढ़ाना या अधिक दर्दनाक हो जाता है|

3. आपके पास एड्स, कैंसर, मधुमेह, ल्यूकेमिया, सिकल सेल रोग या खराब परिसंचरण जैसी अंतर्निहित स्थिति है|

4. आप एक चौथा दवा शोषक हैं|

5. आप स्टेरॉइड थेरेपी या केमोथेरेपी प्राप्त कर रहे हैं|

6. फोड़ा अपने गुदा या जीरो क्षेत्र पर या उसके पास है|

7. आपके पास 38.5 डिग्री सेल्सियस / 101.5 डिग्री फारेनहाइट या अधिक का बुखार है|

8. आपके पास गड़बड़ी और छाती के क्षेत्र के बीच किसी भी क्षेत्र में फोड़ा से या दूर कोमलता लिम्फ नोड्स (लम्प्स) से दूर जाने वाली एक लाल लकीर होती है, उदाहरण के लिए, आपके पैर पर एक फोड़ा (Abscess) आपके जीरो क्षेत्र में सूजी हुई लिम्फ नोड्स पैदा कर सकता है|

यह भी पढ़ें- आधासीसी होने के कारण, लक्षण, निवारण, निदान और उपचार

फोड़े के परीक्षण

चिकित्सा एक मेडिकल इतिहास लेंगे और निम्नलिखित के बारे में जानकारी मांगें सकते है, जैसे-

1. कब से फोड़ा मौजूद है|

2. अगर आपको उस क्षेत्र में कोई चोट याद आती है|

3. आप कौन सी दवा ले रहे हैं|

4. यदि आपके पास कोई एलर्जी है|

5. यदि आपके पास बुखार होता है|

चिकित्सक फोड़ा और आसपास के क्षेत्रों की जांच करेगा| यदि यह आपके गुदा के पास है, तो डॉक्टर एक गुदा परीक्षा का प्रदर्शन करेंगे| यदि एक हाथ या पैर शामिल है, तो डॉक्टर आपके हाथ के नीचे या आपके जीरो में लिम्फ ग्रंथि के लिए महसूस करेंगे|

स्व-देखभाल उपचार

यदि फोड़ा छोटा होता है, 1 सेमी से कम या आधे इंच से कम लगभग 30 मिनट के लिए क्षेत्र में गर्म संकुचन लगाने से दिन में चार बार, इसे इंगित करने के लिए प्रोत्साहित करने में मदद मिल सकती है, और मवाद को निकाला जा सकता है|

दबाने या फैलाने से फोड़ा निकालने का प्रयास न करें| यह संक्रमित सामग्री को गहरे ऊतकों में धकेल सकता है|

सुई या अन्य तेज यंत्र को फोड़ा (Abscess) के केंद्र में न छूएं क्योंकि आप एक अंतर्निहित रक्त वाहिका को घायल कर सकते हैं, या संक्रमण का प्रसार कर सकते हैं|

यह भी पढ़ें- मतली और उल्टी के कारण, लक्षण, दवाएं और इलाज

फोड़ा चिकित्सा उपचार

फोड़ा के चारों ओर का क्षेत्र सुन्न हो जाएगा| उपस्थित होने वाली सूजन की वजह से क्षेत्र को पूरी तरह से सुन्न करना अक्सर मुश्किल होता है, लेकिन स्थानीय संज्ञाहरण आमतौर पर प्रक्रिया को लगभग दर्द रहित बनाता है| यदि फोड़ा बड़ी है, तो आपको कुछ प्रकार का शामक दिया जा सकता है|

इस क्षेत्र को एक एंटीसेप्टिक समाधान और इसके चारों ओर रखे बाँझ तौलिये के साथ कवर किया जाएगा| चिकित्सक ने फोड़ा को काट दिया और पूरी तरह से मवाद और मलबे को हटा दिया|

एक बार जब फोड़ा सूखा जाता है, तो डॉक्टर किसी भी रक्तस्राव को कम करने और इसे एक या दो दिन के लिए खोलने के लिए शेष गुहा में कुछ पैकिंग सम्मिलित कर सकता है| उसके बाद ड्रेसिंग को पैकिंग पर रखा जाएगा, और आपको होम केयर के बारे में निर्देश दिए जाएंगे|

फोड़ा (Abscess) होने के बाद ज्यादातर लोग तुरंत बेहतर महसूस करते हैं| यदि आप अभी भी दर्द का सामना कर रहे हैं, तो अगले एक से दो दिनों में घर के उपयोग के लिए कुछ दर्द निवारक चिकित्सकों से पूछिए| कुछ मामलों में आपको एंटीबायोटिक दवाइयां भी दी जा सकती हैं|

अन्य उपचार 

सावधानी से आपके चिकित्सक द्वारा बताए गए निर्देशों का पालन करें| चिकित्सक आपको किसी भी पैकिंग को अपने आप निकालने के लिए कह सकते हैं| यदि हां, तो यह ऐसा करने के लिए सबसे अच्छा होता है| जब आप इस क्षेत्र को भीगा महसूस कर रहे हों, यदि आप संदेह में हैं, तो अपने अभ्यास नर्स के लिए यह करने के लिए एक नियुक्ति करें|

पैकिंग को हटा दिए जाने के बाद, दिन में तीन या चार बार 10-20 मिनट के लिए क्षेत्र में भिगोकर या फ्लश करें, घाव को ठीक से ठीक करने और फोड़े (Abscess) से निकलने के लिए शेष मलबे को अनुमति देने के लिए| सुनिश्चित करें कि आप सभी अनुवर्ती अपॉइंटमेंट्स रखें| किसी भी बुखार या बढ़ी हुई दर्द की सूचना तुरंत अपने डॉक्टर से करें|

यह भी पढ़ें- रक्त प्रदर के कारण, लक्षण, निवारण, निदान और उपचार

निवारण (Prevention)

1. आपकी त्वचा को साबुन और पानी के साथ नियमित रूप से धुलाई करके अच्छी निजी स्वच्छता बनाए रखें|

2. अपने अंडरमेट या जघन क्षेत्र को शेविंग करते समय अपने आप को नाखून से बचने के लिए सावधानी बरतें|

3. किसी भी पंचर घावों के लिए तत्काल चिकित्सा ध्यान रखना, खासकर यदि आपको लगता है| कि घाव में कुछ मलबे हो सकती है, अगर आपके पास सूचीबद्ध चिकित्सा स्थितियों में से एक है, या यदि आप स्टेरॉयड या केमोथेरेपी के साथ उपचार प्राप्त कर रहे हैं|

दृष्टिकोण (Outlook)

1. एक बार इलाज के बाद, फोड़ा तेजी से ठीक करना चाहिए|

2. बहुत से लोगों को एंटीबायोटिक दवाओं की आवश्यकता नहीं होती है|

3. दर्द तुरंत सुधारता है, और प्रत्येक दिन अधिक होता है|

4. जब तक जख्म ठीक नहीं हो जाता तब तक आपको क्षेत्र को भिगोना या धोना चाहिए. आम तौर पर लगभग 7-10 दिन तक|

5. आम तौर पर आप दूसरे दिन किसी भी पैकिंग को निकाल सकते हैं| यह शायद ही कभी जगह की जरूरत है|

6. पहले दो दिनों के बाद, फोड़ा (Abscess) से मवाद निकासी कम से कम या कोई नहीं होना चाहिए| सभी फोड़े को 10-14 दिनों में ठीक करना चाहिए|

यह भी पढ़ें- सफेद पानी या श्वेत प्रदर के कारण, लक्षण और उपचार

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

4 thoughts on “फोड़ा (Abscess) बनने के कारण, लक्षण, निदान और उपचार”

  1. सर मेरे गुदा पर एक फोड़ा सा है जो काफी दर्द कर रहा है ।
    समझ नही आ रहा है कि ये फोड़ा ही है या पाइल्स है ।
    कृपया करके रिप्लाई जरूर करे।

    1. Hello Vijay Sir,
      आप किसी चिकित्सक विशेषज्ञ से मिलें, इसके लिए जल्दी आप अपने नजदीकी सरकारी अस्पताल को चुन सकते है| जहां सुविधाएं उपलब्ध हों|

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *