टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis)

टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) के कारण, लक्षण और उपचार

टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) एक जीवाणु संक्रमण है, जो लगभग 1.5 मिलियन लोगों को मारता है| इन मौतों में से ज्यादातर विकासशील देशों में होती हैं| टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis ) का जीवाणु जो आमतौर पर मनुष्यों में तपेदिक का कारण बनता है| जो माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस से जाना जाता है|

दुनिया की लगभग एक तिहाई जनसंख्या टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) से संक्रमित है| हालांकि, अधिकांश रोगों के लक्षण नहीं दिखाते हैं, इन लोगों में, बैक्टीरिया निष्क्रिय (अव्यक्त) हैं, और दूसरों को प्रेषित नहीं किया जा सकता है| अगर शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है, तपेदिक सक्रिय हो सकता है, और रोग पैदा कर सकता है|

दुनिया भर में, तपेदिक वयस्कों के बीच संक्रामक रोग से मृत्यु के कारणों में मानव इम्यूनोडिफीसिन्सी वायरस (एचआईवी) के बाद दूसरा है| कई विकासशील देशों में तपेदिक और एचआईवी की दोहरी महामारियां हैं| इन दोनों बीमारियों के बीच की बातचीत को विषाक्त सिनर्जी नाम दिया गया है| ऐसा इसलिए है, क्योंकि प्रत्येक महामारी दुनिया के एक ही गरीब क्षेत्रों में लोगों को प्रभावित करती है, और क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति को दूसरे बिगड़ जाती है|

एचआईवी वाले लोग प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर चुके होते हैं, इसलिए उन्हें तपेदिक के एक नए मामले प्राप्त करने की संभावना है, या अव्यक्त रोग के पुनर्सक्रियण को विकसित करने की संभावना है| तपेदिक वाले लोग अधिक होने की संभावना रखते हैं, अगर वे एचआईवी से संक्रमित हैं|

यह भी पढ़ें- त्वचाशोथ रोग कारण, लक्षण और उपचार

तपेदिक आमतौर पर फेफड़ों को प्रभावित करते हैं, लेकिन संक्रमित लोगों में से एक तिहाई तक, विशेष रूप से एचआईवी एड्स वाले बीमारी में शरीर के अन्य क्षेत्रों में भी शामिल है| संक्रमण की आम साइटों में लिम्फ नोड्स शामिल हैं, मेम्ब्रेन जो दिमाग, जोड़ों, गुर्दे और पाचन अंगो को कवर करने वाले झिल्ली को कवर करते हैं|

तपेदिक बैक्टीरिया हवा से व्यक्ति के बीच में फैल रहे हैं, जीवाणु स्राव के बूंदों में होते हैं जो आपके मुँह या नाक से निकलते हैं| जब आप खांसी करते हैं, या छींकते हैं| तपेदिक के साथ किसी के लिए एक बार का जोखिम संक्रमण होने की संभावना नहीं है| लेकिन दीर्घकालीन छिकने या लंबे समय तक अनावरण आमतौर पर आवश्यक है| तपेदिक या उसके बर्तनों को बांटने के लिए किसी को छूने से संक्रमण नहीं होगा, क्योंकि बैक्टीरिया फेफड़ों में इन्हेल्ड होने के बाद ही फेफड़ों को संक्रमित करते हैं|

टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) का जब संक्रमण होता है, जब एक बैक्टीरिया से भरा छोटी बूंद फेफड़ों के गहरे हिस्से में साँस ले जाती है, जहां बैक्टीरिया प्रतिजन करती है, और शरीर के माध्यम से फैलता है| इस बिंदु पर, प्रतिरक्षा प्रणाली आमतौर पर किसी भी अधिक प्रतिकृति से बैक्टीरिया को रख सकती है, लेकिन आम तौर पर उन्हें पूरी तरह से नष्ट नहीं कर सकती|

बीमारी आमतौर पर जीवन के लिए इस निष्क्रिय या निष्क्रिय स्थिति में बनी होती है| निष्क्रिय टीबी या क्षय रोग वाले लोगों के पास कोई लक्षण नहीं हैं| निष्क्रिय टीबी का विशेष त्वचा परीक्षण या रक्त परीक्षण द्वारा निदान किया जा सकता है|

टीबी या क्षय रोग के प्रकार

प्राथमिक फुफ्फुसीय टीबी- लगभग 7 प्रतिशत लोगों में, प्रतिरक्षा प्रणाली प्रारंभिक तपेदिक संक्रमण को रोक नहीं सकती है| इन लोगों बैक्टीरिया के जोखिम के एक वर्ष के भीतर सक्रिय तपेदिक विकसित होते हैं| इस प्रकार का सक्रिय तपेदिक शिशुओं और बच्चों में विशेष रूप से विकासशील देशों में अधिकतर कुपोषण और खराब चिकित्सा देखभाल के कारण होता है| एचआईवी और अन्य बीमारियों वाले लोग जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है, उनके लिए जोखिम होता हैं|

पुनः सक्रियण फुफ्फुसीय टीबी- टीबी या क्षय रोग से लगभग 93 प्रतिशत लोग बीमारी से पहले ही रोग को निष्क्रिय कर सकते हैं| उनमें से ज्यादातर सक्रिय रोग विकसित नहीं करते हैं, जो सक्रिय रोग विकसित करते हैं, बैक्टीरिया अंततः प्रतिरक्षा प्रणाली को दूर करते हैं, और आमतौर पर फेफड़े में दोहराते हैं और फैलते जाते हैं| बैक्टीरिया फेफड़ों के बड़े क्षेत्रों को नष्ट कर सकता है, बैक्टीरिया और मृत कोशिकाओं से भरे गुच्छे का गठन कर सकता है|

अतिरिक्त फुफ्फुसीय टीबी- यह भी शरीर के अन्य भागों में सक्रिय हो सकते हैं, चाहे फेफड़े शामिल हों या न हों| संक्रमण की आम क्षत्रों में हड्डियों, गुर्दे, लिम्फ नोड्स और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र शामिल हैं|

मिलिअरी ट्यूबरकुलोसिस- टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) पूरे शरीर के माध्यम से खून के माध्यम से फैल सकता है|

यह भी पढ़ें- आधासीसी होने के कारण, लक्षण, निवारण, निदान और उपचार

टीबी या क्षय रोग के लक्षण

यद्यपि आपका शरीर टीकाकरण के कारण होने वाले बैक्टीरिया को बंद कर सकता है, लेकिन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली आमतौर पर आपको बीमार होने से रोक सकती है| इस कारण से, डॉक्टरों के बीच अंतर बना है

अव्यक्त टीबी- इस स्थिति में, आपके पास टीबी संक्रमण है, लेकिन बैक्टीरिया आपके शरीर में एक निष्क्रिय स्थिति में रहते हैं, और कोई लक्षण नहीं होते हैं| जिसे निष्क्रिय टीबी या टीबी संक्रमण भी कहा जाता है, संक्रामक नहीं है| यह सक्रिय टीबी में बदल सकता है, अतः टीका लगने वाले व्यक्ति के लिए उपचार महत्वपूर्ण होता है, और टीबी के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद करता है| अनुमानित 2 अरब लोगों में गुप्त टीबी है|

सक्रिय टीबी- यह स्थिति आपको बीमार बना देती है, और दूसरों में फैल सकती है| यह टीबी बैक्टीरिया के संक्रमण के पहले कुछ हफ्तों में हो सकता है, या यह साल बाद हो सकता है| सक्रिय टीबी के लक्षण और लक्षणों में शामिल हैं, जैसे-

1. खांसी जो तीन या अधिक सप्ताह तक रहता है|

2. खूनी खाँसी होना|

3. सीने में दर्द या श्वास या खाँसी के साथ दर्द

4. अनजाने वजन घटाना|

5. थकान महसूस होना|

6. बुखार का आना|

7. रात को पसीना आना|

8. ठंड लगना|

9. भूख में कमी आना|

टीबी आपके शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर सकती है, जिसमें आपके गुर्दे, रीढ़ या मस्तिष्क शामिल हैं| जब टीबी या क्षय रोग आपके फेफड़ों के बाहर आता है, तब लक्षण अंगों के अनुसार भिन्न होते हैं| उदाहरण के लिए, रीढ़ की तपेदिक आपको पीठ दर्द दे सकती है, और आपके गुर्दे में तपेदिक आपके मूत्र में खून का कारण बन सकती हैं|

यह भी पढ़ें- सिरदर्द होना के प्रकार, कारण, लक्षण, निदान और उपचार

टीबी या क्षय रोग कारण

क्षय रोग जीवाणु के कारण होता है, जो हवा में जारी सूक्ष्म बूंदों के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे तक फैलता है| ऐसा तब हो सकता है, जब क्षय रोग का रोगी सक्रिय रूप से बोलता है, छींक, थूकना, हँसता है|

यद्यपि तपेदिक संक्रामक है, यह पकड़ना आसान नहीं है| आप किसी ऐसे व्यक्ति से तपेदिक होने की अधिक संभावना रखते हैं| जो आप के साथ रहते हैं, या किसी अजनबी रूप से काम करते हैं| सक्रिय टीबी वाले अधिकांश लोग जिनके कम से कम दो हफ्तों के लिए उचित दवा का इलाज होता है, वे अब संक्रमित नहीं हैं|

एचआईवी और टीबी

1980 के दशक से, टीबी के मामलों की संख्या में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है, क्योंकि एचआईवी के प्रसार, वायरस जो एड्स का कारण बनता है| एचआईवी के साथ संक्रमण प्रतिरक्षा प्रणाली को दबा देता है, जिससे शरीर को टीबी के बैक्टीरिया को नियंत्रित करने में मुश्किल होती है| नतीजतन, एचआईवी वाले लोग कई बार टीबी पाने की संभावना रखते हैं, और अव्यक्त से सक्रिय रोग की प्रगति की तुलना में ऐसे लोग हैं, जो एचआईवी पॉजिटिव नहीं हैं|

ड्रग-प्रतिरोधी टीबी

एक अन्य कारण तपेदिक को खत्म करता है, जो कि जीवाणु के दवा प्रतिरोधी उपभेदों में वृद्धि हुई है| चूंकि 60 साल पहले तपेदिक से लड़ने के लिए पहले एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल किया गया था, कुछ टीबी रोगाणुओं ने जीवित रहने की क्षमता विकसित की है, और यह क्षमता उनके वंश को पारित हो जाती है|

तपेदिक के ड्रग-प्रतिरोधी उपभेदों का उदय तब होता है, जब एक एंटीबायोटिक सभी बैक्टीरिया को लक्षित करने में विफल रहता है| जीवित बैक्टीरिया उस विशेष दवा और अक्सर अन्य एंटीबायोटिक दवाओं के प्रतिरोधी हो जाते हैं| कुछ टीबी जीवाणुओं ने सबसे अधिक इस्तेमाल किया उपचार जैसे कि आइसोनियाजिड और राइफैम्पिन के प्रतिरोध को विकसित किया है|

टीबी के कुछ उपभेदों ने भी टीबी के उपचार में सामान्यतः उपयोग किए जाने वाले दवाओं के प्रतिरोध को विकसित किया है, जैसे कि फ्लूरोक्विनोलोन नामक एंटीबायोटिक्स, और एमिआकिसिन, कनामीस्किन और कैप्रोमासायनिक सहित इंजेक्शन वाली दवाएं| ये दवाएं अक्सर उन संक्रमणों का इलाज करने के लिए होती हैं, जो अधिक सामान्यतः इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के प्रतिरोधी होती हैं|

यह भी पढ़ें- चक्कर आना के कारण, लक्षण, निदान और उपचार विकल्प

चिकित्सक से कब मिलें

यदि आपके पास बुखार, अस्पष्ट वजन घटाना, रात में पसीना आना या लगातार खांसी है, तो अपने से सलाह ले, ये अक्सर टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis)  के लक्षण होते हैं, लेकिन वे अन्य चिकित्सा समस्याओं के भी परिणाम हो सकते हैं| आपका चिकित्सक कारण निर्धारित करने में सहायता के लिए परीक्षण कर सकता है|

रोग नियंत्रण और रोकथाम केन्द्रों की सिफारिश है, की जिन लोगों को टीबी के संक्रमण के लिए जोखिम में वृद्धि हुई है, उनकी टीबी संक्रमण के लिए जांच की जा रही है| इस सिफारिश में शामिल हैं, जैसे-

1. एचआईवी / एड्स वाले लोग|

2. IV दवाओं के उपयोगकर्ताओं|

3. संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में रहने वाले|

4. स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता जो टीबी के उच्च जोखिम वाले लोगों का इलाज करते हैं|

टीबी या क्षय रोग जोखिम

कोई भी तपेदिक प्राप्त कर सकता है, लेकिन कुछ कारक रोग के खतरे को बढ़ा सकते हैं| इन कारकों में शामिल हैं, जैसे

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली

एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली अक्सर टीबी जीवाणु से ग्रस्त होती है, लेकिन यदि आपका प्रतिरोध कम है| तो आपका शरीर प्रभावी बचाव नहीं कर सकता है| कई रोगों और दवाइयां आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकती हैं, जिनमें शामिल हैं, जैसे

1. एचआईवी / एड्स का होना|

2. मधुमेह रोग का होना|

3. गंभीर किडनी रोग होना|

4. कुछ कैंसर होना|

5. कैंसर उपचार, जैसे कीमोथेरेपी|

6. प्रत्यारोपित अंगों की अस्वीकृति को रोकने के लिए ड्रग्स|

7. कुछ दवाएं रुमेटी गठिया, क्रोहन रोग और छालरोग का इलाज करती है, उनका उपयोग|

8. कुपोषण के शिकार|

9. बहुत युवा या उन्नत उम्र जब शरीर का विकास हो रहा हो तब|

यह भी पढ़ें- मधुमेह मेलिटस टाइप 1 बनाम 2 के लक्षण, कारण और उपचार

क्षय रोग जटिलताएं

उपचार के बिना, टीबी या क्षय रोग (Tuberculosis) घातक हो सकता है| अनुपचारित सक्रिय रोग आम तौर पर आपके फेफड़ों को प्रभावित करता है, लेकिन यह आपके रक्त प्रवाह के माध्यम से आपके शरीर के अन्य भागों में फैल सकता है| क्षयरोग संबंधी जटिलताओं में शामिल हैं, जैसे-

1. रीढ़ की हड्डी में दर्द पीठ दर्द और कठोरता तपेदिक की आम जटिलताओं है|

2. संयुक्त क्षति तपेदिक संधिशोथ आमतौर पर कूल्हों और घुटनों को प्रभावित करती है|

3. आपके मस्तिष्क (मेनिन्जाइटिस) को कवर करने वाले झिल्ली की सूजन यह एक स्थायी या आंतरायिक सिरदर्द हो सकता है, जो सप्ताहों के लिए होता है| मानसिक परिवर्तन भी संभव है|

4. जिगर या गुर्दा की समस्याएं आपके यकृत और किडनी आपके खून से फिल्टर अपशिष्ट और अशुद्धियों को सहायता करते हैं| ये कार्य क्षीण हो जाते हैं, यदि यकृत या गुर्दा क्षयरोग से प्रभावित होते हैं|

5. दिल विकार दुर्भाग्य से, तपेदिक आपके दिल के आस-पास के ऊतकों को संक्रमित कर सकते हैं, जिससे सूजन और तरल पदार्थ संग्रह हो सकते हैं| जो प्रभावी रूप से पंप करने की आपके दिल की क्षमता में हस्तक्षेप कर सकते हैं| कार्डियक टैंपोनेड नामक यह अवस्था, घातक हो सकती है|

टीबी रोग निवारण

यदि आप गुप्त टीबी संक्रमण के लिए सकारात्मक परीक्षण करते हैं, तो आपका डॉक्टर सक्रिय टीबी के विकास के जोखिम को कम करने के लिए दवा लेने के लिए आपको सलाह दे सकता है| तपेदिक का एकमात्र प्रकार संक्रामक होता है| सक्रिय किस्म, जब यह फेफड़ों को प्रभावित करता है| इसलिए यदि आप अपनी सुगंधित क्षयरोग को सक्रिय होने से रोका जा सकता है, तो आप किसी अन्य व्यक्ति को तपेदिक संचारित नहीं करेंगे|

यह भी पढ़ें- रात में दिखाई न देना के कारण, लक्षण, निदान, उपचार

सुरक्षा के लिए

यदि आपके पास सक्रिय टीबी है, तो अपने कीटाणुओं को अपने आप तक सिमित रखें, जब तक आपका उपचार नही होता है| बीमार होने से अपने मित्रों और परिवार को सुरक्षित रखने के लिए इन युक्तियों का पालन करें|

घर पर रहना- सक्रिय तपेदिक के इलाज के पहले कुछ हफ्तों के दौरान अन्य लोगों के साथ काम करने या स्कूल जाने या सोने के लिए न जाएं|

हवादार स्थान- तपेदिक कीटाणु छोटे बंद स्थानों में अधिक आसानी से फैलते हैं, जहां हवा नहीं बहती है| अगर यह सड़क पर बहुत ठंडा नहीं है, तो खिड़कियां खोलें और अंदर की वायु के बाहर निकलने का प्रबंध करें|

अपने मुंह को ढक लो- जब भी आप हँसते हैं, छींक या खांसी करते हैं, तब मुंह को कवर करने के लिए कपड़े का प्रयोग करें, गंदे कपड़े को एक बैग में रखो, उसे सील करें और उसे फेंक दो या गर्म पानी साफ़ करें|

नकाब पहनिए- सर्जिकल मास्क पहने हुए जब आप उपचार के पहले तीन हफ्तों के दौरान अन्य लोगों के आसपास होते हैं, तो ट्रांसमिशन के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है|

दवा के पूरे कोर्स समाप्त करें

यह सबसे महत्वपूर्ण कदम है, जिसे आप अपने और दूसरों को तपेदिक से बचा सकते हैं| जब आप जल्दी इलाज बंद कर देते हैं, या खुराक छोड़ते हैं, टीबी बैक्टीरिया को म्यूटेशन विकसित करने का एक मौका मिलता है| जो उन्हें सबसे अधिक शक्तिशाली टीबी ड्रग्स से बचने की इजाजत देता है| जिसके परिणामस्वरूप दवा प्रतिरोधी उपभेदों को अधिक घातक और इलाज के लिए मुश्किल है|

टीकाकरण (Immunization)

जिन देशों में टीबी अधिक आम है, बच्चों को अक्सर बैसिलस कैल्मेटे-ग्यूरिन (बीसीजी) वैक्सीन के साथ टीका लगाया जाता है| क्योंकि यह बच्चों में गंभीर तपेदिक को रोक सकता है| लेकिन विशेषज्ञ इस टिके के पक्ष में नही है| क्योंकि यह वयस्कों में बहुत प्रभावी नहीं है| नए टीबी टीके के दर्जनों विकास और परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं|

यह भी पढ़ें- घाव की देखभाल कैसे करे, लक्षण, निवारण, निदान और उपचार

क्षय रोग निदान

शारीरिक परीक्षा के दौरान, आपका डॉक्टर सूजन के लिए आपके लिम्फ नोड्स की जांच करेगा और स्टेथोस्कोप का इस्तेमाल करेगा ताकि आप अपने सांस लेने के दौरान अपने फेफड़ों के लिए आवाज सुन सकें|

तपेदिक के लिए सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला परिक्षण एक साधारण त्वचा परीक्षण है, हालांकि रक्त परीक्षण अधिक सामान्य होते जा रहे हैं| पीपीडी ट्यूबरकुलिन नामक एक पदार्थ की एक छोटी सी मात्रा आपके अंदर की बांह की कंधे के नीचे इंजेक्शन है| आपको केवल थोड़ी सुई चुभन महसूस होता है|

48 से 72 घंटे के भीतर, एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर इंजेक्शन साइट पर सूजन के लिए आपके हाथ की जांच करेगा| एक कठिन, उठा लाल बंप का मतलब है, कि आपको टीबी संक्रमण होने की संभावना है| टक्कर का आकार निर्धारित करता है, कि परीक्षण के परिणाम महत्वपूर्ण हैं या नहीं|

अन्य परीक्षणों में शामिल, रक्त परीक्षण, इमेजिंग टेस्ट और बलगम परीक्षण आदि जिनका सुझाव आपका चिकत्सक आपको दे सकता है

टीबी रोग इलाज

दवाएं तपेदिक के उपचार की आधारशिला हैं, लेकिन टीबी के इलाज में अन्य प्रकार के बैक्टीरियल संक्रमणों के इलाज से ज्यादा समय लगता है|

तपेदिक के साथ, आपको कम से कम छह से नौ महीने तक एंटीबायोटिक दवाएं लेनी चाहिए| सटीक दवाओं और उपचार की लंबाई आपकी आयु, समग्र स्वास्थ्य, संभावित दवा प्रतिरोध, टीबी (अव्यक्त या सक्रिय) के रूप और शरीर में संक्रमण के स्थान पर निर्भर करती है|

हाल के शोध से पता चलता है, कि उपचार की एक छोटी अवधि नौ महीने के बजाय चार महीने संयुक्त दवा के साथ-साथ निष्क्रिय टीबी या क्षय रोग सक्रिय टीबी में प्रभावी हो सकता है| उपचार के कम कोर्स के साथ, लोगों को अपनी सारी दवाएं लेने की संभावना होती है, और दुष्प्रभावों का जोखिम कम होता है| इसके लिए अध्ययन चल रहे हैं|

यह भी पढ़ें- निराश होने के लक्षण, कारण, निवारण, निदान और चिकित्सा

सबसे सामान्य टीबी दवाएं-

यदि आपके पास अव्यक्त तपेदिक है, तो आपको केवल एक प्रकार की टीबी औषधि लेने की आवश्यकता हो सकती है| सक्रिय तपेदिक, खासकर अगर यह एक दवा प्रतिरोधी तनाव है, एक बार में कई दवाओं की आवश्यकता होगी तपेदिक के इलाज के लिए इस्तेमाल सबसे आम दवाओं में शामिल हैं, जैसे-

1. आइसोनियाज़िड

2. रीफैम्पिन (रीफाडिन, रिमैटेटेन)

3. एथम्बूटोल (माइंबुटोल)

4. पायराज़ीनामाईड

अगर आपके पास दवा प्रतिरोधी टीबी है, तो एंटीबायोटिक्स का एक संयोजन फ्लोरोक्विनॉलोन और इंजेक्शन जैसी दवाएं, जैसे कि अमीकैसिन, कनामाइसीन या कैप्रोमासायन, का आमतौर पर 20 से 30 महीनों के लिए उपयोग कि जाती है| कुछ प्रकार के टीबी इन दवाओं के प्रतिरोध को भी विकसित कर रहे हैं|

वर्तमान दवा प्रतिरोधी संयोजन उपचार के लिए कई नई दवाओं को ऐड-ऑन थेरेपी के रूप में देखा जा रहा है, जिनमें शामिल हैं, जैसे बेडाकुइलिने और लिनेज़ोलिद|

दवा के दुष्प्रभाव

टीबी दवाओं के गंभीर दुष्प्रभाव सामान्य नहीं होते हैं| लेकिन जब वे होते हैं, तो खतरनाक हो सकते है| सभी तपेदिक दवाएं आपके जिगर के लिए बेहद जहरीला हो सकती हैं| जब इन दवाइयाँ लेते हैं, तो तत्काल अपने चिकित्सक को फोन करें, अगर आप निम्न में से किसी का अनुभव करते हैं, जैसे-

1. उलटी अथवा मितली लगना|

2. भूख में कमी होना|

3. आपकी त्वचा में एक पीला रंग जिसको पीलिया कहते है|

4. डार्क मूत्र आना|

5. एक बुखार जो तीन या अधिक दिन तक रहता है और इसका स्पष्ट कारण नहीं है|

विशेष- टीबी या क्षय रोग कोई लाइलाज बीमारी नही है, यदि आप चिकित्सक द्वारा सुझाई गई दवाओं को समय पर लेते है, और दवाओं का कौर्स पूरा करते है, तो यदि आप ऐसा नही करते है, तो यह रोग अन्य बहुत से रोगों को जन्म देता है, जो आपके लिए घातक हो सकते है|

नोट- किसी भी दवा का उपयोग चिकित्सक की सलाह से ही करें, अन्यथा दवा हानिकारक हो सकती है, और आपकी जान को भी जोखिम हो सकता है|

यह भी पढ़ें- त्वचा से संबंधित रोगों की सूची 

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *