गंजापन का आयुर्वेदिक

गंजापन का आयुर्वेदिक व घरेलू इलाज ! Baldness home remedies

गंजापन का आयुर्वेदिक में या बालों के झड़ने की समस्या का इलाज करने के लिए एक सुरक्षित और लागत प्रभावी वैकल्पिक चिकित्सा है| गंजापन का आयुर्वेदिक व घरेलू इलाज बालों के जड़ने का पूरी तरह से इलाज सम्भव है| यदि यह बाल गिरने का प्रारम्भिक चरण होता है| यदि आप गंजापन के बारे में अधिक जानना चाहते है, तो यहां पढ़ें- कारण लक्षण व इलाज

आयुर्वेदिक दर्शन के अनुसार, शरीर में पित दोष से बालों का झड़ना एक कारण होता है| शराब, काफी, चाय, धुम्रपान, तला हुआ, मसालेदार और अम्लीय खाद्य उत्पादों और जलवायु परिस्थितियों के कारण शरीर में पित्त बढ़ जाते है| जिसके कारण यह समस्या उत्पन होती है|

यह भी पढ़ें- जुकाम होने के लक्षण, कारण, जोखिम, निदान और उपचार

आयुर्वेदिक इलाज

भृंगराज (Bhringaraaja)

बालो के झड़ने को नियंत्रित करने के लिए यह सबसे अच्छा आयुर्वेदिक जडीबुटी है| क्योंकी इस जडीबुटी में गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज करने की शक्ति है| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

विधि- इसे आंतरिक रूप से लिया जा सकता है, यह भिरेंगराज तेल के रूप में भी सिर या प्रभावित जगह पर लगाया जा सकता है| इसकी पेस्ट बना कर भी इस पेस्ट को सिर पर लगाया जा सकता है| 10 से 15 मिनट के बाद इसको साफ़ पानी से धो ले|

ब्राह्मी (Brahmi)

यह आयुर्वेदिक जडीबुटी स्वस्थ बालो को बढ़ावा देने के आलावा, मस्तिक, स्मृति, बुधि, एकग्रता और सतर्कता के लिए भी किया जाता है| यह स्वस्थ त्वचा और बालो को बढ़ावा देती है| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

विधि- ब्रश्मी तेल की अपने सिर पर मालिस कर सकते है| जिसे सिर में रक्त का धाराप्रवाह बनता है| इसको दही और निम्बू रस के साथ पेस्ट बना कर सिर पर लेप कर सकते है इसे रूसी से भी छुटकारा मिलता है|

आमला (Amla)

यह विटामिन सी का एक मुख्य स्रोत है| यह बाल टोनिक बाल पोषक तत्व और बाल स्वास्थ व बाल मजबूती के लिए जाना जाता है| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

विधि- दही, गोभी पाउडर और ब्राह्मी पाउडर के साथ एक पेस्ट बनाए और सिर पर लगाए अब 1 से 2 घंटे बाद इसको धो ले| अब बालो पर आवला तेल और निम्बू रस के साथ मालिस कर ले चोकाने वाले परिणाम आप के सामने होंगे|

यह भी पढ़ें- आँखों में कुछ पड़ जाना के लक्षण, कारण, निदान और उपचार

अलोए वेरा (Aloe Vera)

बालों को झड़ने से रोकने के लिए और बालों को बढ़ाने के लिए इस ओषधि का प्रयोग होता है| यह भी एक बेहतरीन गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

विधि- तैयार अलोएवेरा 1/3 कप में जीरा मिश्रण मिलाए और सिर पर लेप करें|

अश्वगंधा (Ashwagandha)

यदि आप के बाल भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक वजह से गिर रहें है तो यह ओषधि बहुत ही महत्वपूर्ण है| यह प्रतिरक्षा प्रणाली को भी शक्ति देता है| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

विधि- इस के तैयार चूर्ण को आप सुबह और श्याम ले सकते है या फिर इसका लेप तैयार कर के सिर पर भी लगा सकते है सूखने पर इसको साफ़ पानी से धो ले और नारियल तेल की मालिस करे|

आयुर्वेदिक दवाएं

गंजापन का आयुर्वेदिक या बालों को झड़ने से रोकने व गंजापन का इलाज की आयुर्वेदिक दवाएं-

1. थिक्थाकम कशयम (Thikthakam Kashayam)

2. थिक्थाकम घरिथंम (Thikthakam Ghritham)

3. नरसिम्हा रसायनं (Narasimha Rasayanam)

4. चवावना प्रसम (Chvavana Prasam)

यह भी पढ़ें- कुष्ठ रोग- लक्षण, कारण, इलाज

आयुर्वेदिक इलाज के घरेलू नुस्खे

1. यदि आप के बाल गिर रहें है तो नियमित रूप से अरंडी के तेल की मालिस करे इसे बालो में चमक और बालों का उड़ना बंद होगा|

2. अलोएवेरा जेल और नारियल तेल को मिश्रित कर के सिर की मालिस करे इसे बाल झड़ने से छुटकारा मिलेगा| 

3. चकोतरा और कालीमिर्च का पेस्ट बना ले और उसको सिर पर लागु करे सूखने पर साफ पानी से धो ले इसे बालों का टूटना बंद होगा|

4. मैथी पाउडर का पेस्ट बना ले और इसको सिर की प्रभावित जगह पर लगाएं और 1 से 2 घंटे बाद इसको धो ले गंजापन का सम्भव है|

5. चकुंदर पत्ती का पेस्ट बना ले और सिर पर लगाए गंजापन से छुटकारा मिलेगा| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

6. जैतून का तेल, शहद और दालचीनी का एक पैक तैयार करे और स्नान से 15 से 20 मिनट पहले सिर पर लागु करे यह गंजापन का इलाज व बालों के लिए बहुत प्रभावी है| यह एक अच्छा गंजापन का आयुर्वेदिक इलाज हो सकता है|

यह भी पढ़ें- दाद – कारण, लक्षण, उपचार

7. शहद और घी को मिश्रित कर के प्रभावित जगह पर लगाए घरेलू इलाज के लिए यह प्रभावी तरीका है|

8. प्याज रस के साथ शहद को मिश्रित करे और प्रभावित जगह पर लागु करें इसे नए बाल उगाने में प्रभावी है|

9. कपूर और दही को बराबर मात्र में ले और उसका पेस्ट बनाकर प्रभावित जगह पर लगाएं बाल झड़ने से छुटकारा मिलेगा|

10. बिना छिलके वाली उड़द की दाल को भिगोकर उसका पेस्ट बना ले और सोते समय मालिस करे और लेप करे इसको अगले दिन सुबह धो ले यह भी इस रोग में प्रभावी है|

11. मुलेठी को पीसकर इसमें थोड़ी मात्रा में दूध और केसर मिलाकर पेस्ट बना ले अब सोने से पहले इसका लेप सिर पर लगाएं ऐसा करने से धीरे धीरे गंजापन से छुटकारा मिलेगा|

12. हरे धनिए का पेस्ट बनाकर प्रभावित जगह पर लगाए ऐसा 1 से 2 महीने तक करने से बाल फिर उगना शुरु हो जाएगे|

13. केले के गुदे और नीबू रस को मिक्श करें व प्रभावित जगह पर लगाए बालो का उड़ना बंद होगा|

यह भी पढ़ें- वर्त्मांतशोध के लक्षण, कारण, निदान और उपचार

प्रिय पाठ्कों से अनुरोध है, की यदि वे उपरोक्त जानकारी से संतुष्ट है, तो अपनी प्रतिक्रिया के लिए “दैनिक जाग्रति” को Comment कर सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा, ये आपका अपना मंच है, लेख पसंद आने पर Share और Like जरुर करें|

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *